नई दिल्‍ली: जम्‍मू-कश्‍मीर सुरक्षाबलों ने रविवार को अलसुबह एक आतंकी को मार गिराया है. अभी ऑपरेशन जारी है. यह ऑपरेशन शोपिया जिले में चल रहा है. इस दौरान हथियार भी मिले हैं. Also Read - कश्मीर: कोरोना पॉजिटिव थे कुलगाम मुठभेड़ में मारे गए हिज्बुल के दोनों आतंकी

सुरक्षा सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, आतंकवादियों से यह मुठभेड़ शोपिया जिले में आज रविवार को सुबह शुरू हई है. सुरक्षाबल और पुलिस के संयुक्‍त ऑपरेशन के तहत ऑपरेशन जारी है. Also Read - ओडिशा में सुरक्षाकर्मियों को बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में मार गिराए चार नक्सली

बता दें कि शनिवार को सुरक्षाबलों ने कश्मीर के कुलगाम जिले में के लिखदीपुरा क्षेत्र में एक सर्च ऑपरेशन के दौरान एक आतंकी को मार गिराया था. यह मुठभेड़ तब हुई जब सुरक्षा बल जब क्षेत्र में तलाशी ले रहे थे. इस दौरान छिपे हुए आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी की और मुठभेड़ शुरू हो गई थी. Also Read - जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में हुई मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने मार गिराए दो आतंकवादी, जवान घायल

वहीं कल ही बीएसएफ ने अंतराष्‍ट्रीय सीमा पर पाकिस्‍तान की ओर आतंकी वारदात को अंजाम देने के मकसद से ड्रोन से भेजे गए हथियारों की आपूर्ति की खेप को पकड़ लिया था. जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ ने एक अत्याधुनिक राइफल और सात ग्रेनेड से लैस एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया था. जम्मू क्षेत्र में यह पहली ऐसी घटना है, जब बीएसएफ ने हथियारों और विस्फोटकों से लैस ड्रोन को मार गिराया. इस तरह, ड्रोन के जरिए केंद्र शासित प्रदेश में हथियारों की तस्करी करने की पाकिस्तान की कोशिश नाकाम कर दी गई.

चीन निर्मित इस ड्रोन का वजन 17.5 किग्रा था. अमेरिका निर्मित एक अत्याधुनिक एम 4 अर्द्ध-स्वचालित कार्बाइन (राइफल) और सात चीनी ग्रेनेड सहित 5.5 किग्रा साजो सामान लदे ड्रोन को बीएसएफ के एक गश्ती दल ने सीमा चौकी पानसर के पास रथुआ गांव में सुबह करीब पांच बज कर 10 मिनट पर आसमान में मंडराते देखा. बीएसएफ जवानों ने नौ गोलियां चलाई और ड्रोन को मार गिराया. यह पाकिस्तान की ओर से भारतीय सीमा के अंदर आया था और पिछले एक साल में विभिन्न
सेक्टरों में इस तरह की कोशिशों की गई थी. खुफिया सूचना थी कि पाकिस्तान से हथियारों एवं गोला बारूद की तस्करी के लिये ड्रोन का इस्तेमाल किया जा सकता है.