कांगड़ा (हिमाचल प्रदेश): नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादी ढांचे से निपटने के लिए तमाम व्यापक विकल्पों में सर्जिकल स्ट्राइक केवल एक विकल्प है और भारतीय सेना स्थिति के मुताबिक कार्रवाई करेगी. यह बात सेना के एक शीर्ष कमांडर ने बुधवार को कही. सेना के उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने पाकिस्तान की सेना के इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर के बयानों को भी तवज्जो नहीं दी, जिन्होंने शनिवार को चेतावनी दी थी कि भारत की तरफ से इस तरह की एक भी कार्रवाई के जवाब में इस्लामाबाद दस सर्जिकल स्ट्राइक करेगा. उन्‍होंने कहा, भारतीय सेना और देश के समक्ष सर्जिकल स्ट्राइक भी एक विकल्प है. Also Read - भारतीय सेना ने 72 हजार अमेरिकी राइफलों का दिया ऑर्डर, बंदूक की खासियत है कमाल

लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा, ” यह वास्तव में मायने नहीं रखता कि कौन क्या बयान देता है, लेकिन हमारे लिए यह महत्वपूर्ण है कि हम अपनी क्षमता बनाए रखें और किसी भी वक्त किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें.”

इस मुद्दे पर सवालों का जवाब देते हुए जनरल रणबीर सिंह ने मीडियाकर्मियों से कहा, ”मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि भारतीय सेना पूरी तरह तैयार है और प्रतिबद्ध है और इसका संकल्प है कि जब भी जरूरत पड़ेगी हम अपनी क्षमता प्रदर्शित करेंगे.”

जनरल रणबीर सिंह ने कहा, ” व्यापक विकल्पों में से उत्तर कमान, भारतीय सेना और देश के समक्ष सर्जिकल स्ट्राइक भी एक विकल्प है.”

मेजर जनरल आसिफ गफूर ने लंदन में मीडिया से बात करते हुए बयान दिया था जहां वह पाकिस्तान की सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के साथ दौरे पर गए थे.