नई दिल्ली: भारत चीन सीमा पर लंबे वक्त तक चले स्टैंड ऑफ के बाद अब धीरे धीरे कर सभी विवादित जगहों से सेनाओं को पीछे खींचने का काम किया जा रहा है. लेकिन भारतीय सेना अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती. इस कारण सेना ने 72000 अमेरिक असॉल्ट राइफलों को खरीदने का फैसला किया है. इसके लिए सेना की तरफ से ऑर्डर भी दे दिया गया है. बता दें कि इन हथियारों को सेना अमेरिका से खरीदेगी. Also Read - आर्मी चीफ यात्रा पर, चीनी बॉर्डर पर मौजूदा तनाव से निपटने और सेना की तैनाती का लेंगे जायजा

बता दें कि इससे पहले सेना को अमेरिकी राइफलों की जखीरा मिल चुका है. पहले ऑर्डर में भी सेना ने 72 हजार राइफलों का ऑर्डर दिया था जो कि सेना को अब मिल चुका है. इन हथियारों का इस्तेमाल फिलहाल उत्तरी कमांड में ऑपरेशनल इलाकों में किया जा रहा है. बता दें कि इस राइफल से निकली गोली 500 मीटर तक अपने शिकार को भेद सकती है. साथ ही इस बंदूक की गोली दूसरे बंदूकों के मुकाबले बड़ी होती है. Also Read - अमेरिका भी राममय: न्यूयॉर्क टाइम्स स्क्वायर के बोर्ड पर भगवान राम और मंदिर का नक्शा

इन राइफलों को शूट टू किल भी कहा जाता है, इसका मतलब है कि अगर इस राइफल से गोली निकलती है तो वह निशाने को भेदती ही है. सूत्रों की माने तो सेना को जो मिला है. उसके तहत 72 हजार और असॉल्ट राइफलों का ऑर्डर दिया गया है. इससे भारतीय सेना की ताकत बढ़ेगी. बता दें कि बीते दिनों सेना ने भीषण ढंड की मार झेलने वाले टेंट्स का भी ऑर्डर दिया था.