कासरगोड: केरल के कासरगोड में माकपा की युवा शाखा के 25 वर्षीय एक कार्यकर्ता की कथित तौर पर धारदार हथियार से हत्या कर दी गई. राज्य की सत्तारूढ़ वामपंथी पार्टी हत्या के लिए आरएसएस-भाजपा को जिम्मेदार ठहरा रही है. वहीं, भाजपा ने इन आरोपों को खारिज किया है. भाजपा नेताओं का कहना है कि हमला राजनीती से प्रेरित नहीं है. आरोप गलत हैं. Also Read - GHMC Election 2020: हैदराबाद में बोले अमित शाह- जीएचएमसी चुनाव में जीत होने के बाद हैदराबाद बनेगा आईटी केंद्र, खत्म होगी निजाम संस्कृति

Also Read - मैं पार्टी में जाति, धर्म आधारित प्रकोष्ठ के पक्ष में नहीं हूं: नितिन गडकरी

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कल रात तिरुवनन्तपुरम से 600 किलोमीटर दूर उपपाल में ‘डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया’ (डीवायएफआई) के कार्यकता सिद्दीकी पर दो बाइक सवारों ने हमला कर दिया था. उसे तुरंत नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसकी जान बचाई नहीं जा सकी. अधिकारी ने बताया कि किसी भी तरह की हिंसक घटना को रोकने के लिए इलाके में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और मामले की जांच के लिए एक विशेष पुलिस दल का गठन किया गया है. Also Read - हैदराबाद का यह भाग्‍यलक्ष्‍मी मंदिर नगर निगम की चुनावी जंग के बीच क्‍यों बना सुर्खियों का केंद्र

केरल पहुंचे शाह ने कहा- दक्षिण भारत और बंगाल में सरकार बनाने के बाद पूरा होगा मिशन

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के राज्य सचिव कोदियेरी बालाकृष्णन ने घटना की निंदा करते हुए इसके लिए आरएसएस और भाजपा को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि केरल समुदाय को राज्य में सांप्रदायिक ताकतों को अलग-थलग करने और पहचानने में सक्षम होना चाहिए. वहीं, भाजपा के राज्य अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लई ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि हमला राजनीति से प्रेरित नहीं था. आरोप गलत लगाए जा रहे हैं. ऐसा नहीं करना चाहिए.