नई दिल्ली: अनुभवी आफ स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि भारत को पुलवामा आतंकवादी हमले के मद्देनजर आगामी विश्वकप में पाकिस्तान से नहीं खेलना चाहिये. हरभजन ने कहा कि भारत अगर 16 जून को मैनचेस्टर में पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले मैच गंवा भी देता है तो भी इतना मजबूत है कि विश्व कप जीत सकता है. उन्होंने कहा ,‘भारत को विश्वकप में पाकिस्तान से नहीं खेलना चाहिये. भारतीय टीम इतनी मजबूत है कि पाकिस्तान से खेले बिना भी विश्वकप जीत सकती है.’’ Also Read - कश्मीर में भारत 22 अक्टूबर को मनाएगा 'काला दिवस', 1947 में पाकिस्तान ने घाटी में कराई थी हिंसा

Also Read - आतंकियों को पनाह देना अब पाकिस्तान को पड़ेगा भारी, ग्रे लिस्ट से ब्लैक लिस्टेड भी हो सकता है

मोहम्मद शमी ने की शहीदों के परिजनों की मदद, कहा- हम खेलते हैं, तब बॉर्डर पर हमारी रक्षा करते हैं जवान Also Read - Happy Birthday Virender Sehwag: टेस्ट क्रिकेट में 2 ट्रिपल सेंचुरी जड़ने वाले इकलौते भारतीय हैं 'नजफगढ़ के नवाब', यहां देखें उनके कुछ चुनिंदा रिकॉर्डस

हरभजन ने कहा,‘‘यह कठिन समय है. हमला हुआ है, यह अविश्वसनीय है और बहुत गलत है. सरकार जरूर कड़ी कार्रवाई करेगी. जहां तक क्रिकेट का सवाल है तो मुझे नहीं लगता कि हमें उनके साथ कोई भी संबंध रखना चाहिये वरना ऐसा चलता रहेगा.’’ उन्होंने कहा,‘‘हमें देश के साथ खड़े होना चाहिये. क्रिकेट या हाकी या किसी भी खेल में हमें उनके साथ नहीं खेलना चाहिये.’’ क्रिकेट का वर्ल्ड कप इस साल इंग्लैंड में खेला जाना है, जिसके शुरू होने में अब बस गिनती के 100 दिन रह गए हैं. लेकिन, उससे पहले भारत ने पाकिस्तान की नींदें उड़ा दी है. उसे बेचैन कर दिया है.

वर्ल्ड कप से 100 दिन पहले भारत ने किया पाकिस्तान को ‘बेचैन’, पुलवामा हमले के बाद दिया ‘दोहरा’ झटका

क्रिकेट का वर्ल्ड कप इस साल इंग्लैंड में खेला जाना है, जिसके शुरू होने में अब बस गिनती के 100 दिन रह गए हैं. लेकिन, उससे पहले भारत ने पाकिस्तान की नींदें उड़ा दी है. उसे बेचैन कर दिया है. पुलवामा हमले के बदले भारत के दिए झटकों के बाद पाकिस्तान की ये बेचैनी उसके बयानों में साफ झलक भी रही है. पाकिस्तान क्रिकेट का वो बयान क्या है और क्यों आया है ये जानने से पहले आईए आपको ये बता देते हैं कि पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को वो झटके क्या क्या दिए हैं, जिससे उसे बेचैनी भरा बयान देना पड़ा है.

पुलवामा हमले का असर, वर्ल्ड कप में 16 जून को नहीं भिड़ सकते हैं भारत-पाकिस्तान!

दरअसल, पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को पहला झटका उसके घरेलू T-20 टूर्नामेंट पाकिस्तान सुपर लीग से IMG रिलायंस के हाथ खींचने से लगा है. वहीं, दूसरा झटका भारत के क्रिकेट एसोशिएसनों की गैलरी में लगे पाकिस्तानी क्रिकेटर्स की तस्वीरों को हटाए जाने से लगा है. भारत के तमाम क्रिकेट एसोशिएसनों की गैलरी में लगे पाकिस्तानी क्रिकेटर्स की तस्वीरों को हटा दिया गया हैं. पाकिस्तान को सबसे बड़ा धक्का मुंबई के क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया और मोहाली क्रिकेट एसोसिएशन से पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और मौजूदा PM इमरान खान की तस्वीर को हटाए जाने को लेकर लगी है.