नई दिल्ली : देश भर में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते इन बीते 24 मार्च को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने देश में 21 दिनों के लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की थी. जिसके मद्देनजर भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने भी पैसेंजर ट्रेन का परिचालन रोक दिया है. लेकिन, इस बीच भारतीय रेलवे ने स्टेशन पर खड़ी इन खाली ट्रेनों को लेकर बड़ी घोषणा की है. उत्तर रेलवे ने अपने ट्रेन की बोगियों को आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) में तब्दील किया करने का ऐलान किया है. Also Read - एक बार फिर यूएई ने बीसीसीआई के सामने रखा IPL आयोजन का प्रस्ताव

रेलवे की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक उत्तर रेलवे ट्रेन के 28 नॉन एसी कोच को आइसोलेशन वार्ड में बदला जा चुका है. जगाधरी वर्कशॉप में पांच और AMV में 5 कोच आइसोलेशन वार्ड में बदला गया है. इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि 28 और कोचों को 10 दिनों के भीतर मतलब 6 अप्रैल तक उत्तर रेलवे इसमें सफलता भी हासिल कर लेगा. Also Read - आक्रामक स्वभाव के लिए मशहूर कगीसो रबाडा ने कहा- मैं जल्दी आपा नहीं खोता हूं

मतलब आज से 28 अन्य ट्रेन के डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड के तौर पर इस्तेमाल शुरु हो जाएगा. उत्तर रेल महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस बात की सूचना शेयर की है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान महाप्रधंक ने लॉकडाउन में जरूरी सेवाओं के समीक्षा की भी बात कही.

उत्तर रेल महाप्रबंधक ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान अधिकारियों से मालगाड़ियों के संचालन को लेकर भी जानकारी ली और इसके साथ कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए ट्रेन में साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की बात कही. बता दें रेलवे ने समय आने पर तीन लाख से ज्यादा आइसोलेशन बेड बनाने की बात भी कही है.