IRCTC Tatkal Ticket Booking: देश कोरोना महामारी के कारण पहले लॉकडाउन में ट्रेनों की आवाजाही को बंद कर दिया गया था. इसके बाद फिर धीरे-धीरे कर ट्रेनों को चलाया गया. अबतक देश में 230 ट्रेनों को संचालित किया जा रहा है. इस बीच यात्रियों की सुविधा का IRCTC ने पूरा ध्यान रखा है. यही कारण है कि अब रेलवे ने तत्काल टिकट बुकिंग सेवा (IRCTC Tatkal Ticket Booking) को फिर से शुरू कर दिया है. यह सेवा 29 जून यानी आज से शुरू हो चुकी है. ऐसे में अब आप चाहें तो तत्काल टिकटों की बुकिंग करा सकते है. यह सुविधा महामारी के दौरान बंद कर दी गई थी. बता दें कि इस बात की जानकारी सेंट्रल रेलवे के PRO शिवाजी सुतार ने ट्वीट कर दी है. Also Read - IRCTC Indian Railways Latest News: रेलवे ने दी बड़ी सुविधा, अब मात्र एक कॉल से कैंसिल करा सकते हैं अपना टिकट, ऐसे मिलेगा रिफंड

तत्काल टिकट बुकिंग सेवा के शुरू किए जाने के बाद शिवाजी सुतार ने ट्वीट करते हुए लिखा 30 जून से चलने वाली ट्रेनों के लिए तत्काल बुकिंग की सेवा को शुरू कर दिया गया है. इन ट्रेनों का नंबर 0 (शून्य) से शुरू होता है. इस बाबत उन्होंने तत्काल बुकिंग सेवा को लेकर समय के बारे में बताया कि 10 बजे से एसी क्लास की टिकटों की बुकिंग होगी. जबकि स्लीपर क्लास के लिए तत्काल बुकिंग 11 बजे से शुरू होगी. अधिकारी ने कहा कि इससे यात्रियों का काफी सुविधा मिलेगी. Also Read - IRCTC Latest News Update: रेलवे ने एक जुलाई से 12 अगस्त तक के लिए सभी रेगुलर यात्री ट्रेनें की कैंसिल, जानें डिटेल

बता दें कि कोरोना महामारी के मद्देनजर 12 अगस्त तक सभी मेल, पैसेंजर, लोकल, एक्सप्रेस और EMU ट्रेनों को बंद रखा गया है. इन ट्रेनों के संचालन पर 12 अगस्त के बाद फैसला लिया जाएगा. साथ ही अगर इन ट्रेनों में किसी की पहले से बुकिंग है तो उन्हें 100 फीसदी रिटर्न दिया जाएगा. बता दें कि 12 अगस्त तक 230 ट्रेनों के अलावा जो ट्रेने चलाई जानी थी सिर्फ उनपर रोक लगाई गई हैं. बाकी 230 ट्रेनें जो पहले से चलाई जा रही हैं उनके संचालन पर इस फैसले का कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला है.

IRCTC के अनुसार अब आप 120 दिन पहले तक ट्रेनों के टिकट की एडवांस बुकिंग करा सकतेहैं. बता दें कि ट्रेनों के रेलवे द्वारा रद्द किए जाने की सूरत में यात्रियों को पूरा पैसा रेलवे द्वारा रिफंड किया जाएगा. साथ ही 15 अगस्त से पहले तक जिन्होंने ट्रेनों में टिकट बुकिंग कराई थी. उन्हें भी पूरा पैसा रेलवे द्वारा रिफंड किया जाएगा.