Irctc Indian Railway: देश में लॉकडाउन के बाद रेलवे के यात्री ट्रेनों को बंद कर दिया गया था. हालांकि अब रेलवे अपनी सभी सेवाएं दे रहा है. इस बीच रेलवे कोरोना महामारी के दौरान ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं देने का प्रयास कर रहा है. इस दौरान रेलवे द्वारा लोगों तक जरूरत के सामानों को पहुंचाने के लिए स्पेशल ट्रेने चलाई गई. बता दें कि यह सुविधा सिर्फ सेंट्रल रेलवे में चलाई जा रही है. इस दौरान रेलवे की मदद से आपके द्वारा मंगवाए जा रहे सामान आपके घर तक रेलवे पहुंचाएगा. Also Read - Indian Railways Latest News: रेलवे ने बिहार से झारखंड आने वाली इन ट्रेनों पर लगाई 13 जुलाई से रोक

भारतीय डाक से करार Also Read - यूपी में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां आज रात से होंगी लागू, क्‍या रहेगा बंद, क्‍या रहेगा खुला

रेलवे द्वारा सेंट्रल रेलवे जोन में पार्सलों को घर-घर तक पहुंचाने को लेकर रेलवे ने भारतीय डाक (Indian Post) से समझौता किया है. रेलवे द्वारा एक स्थान से दूसरे स्थान पर सामान ले जाने व उसे घर घर तक भिजवाने का काम भारतीय डाक को करना होगा. इस सुविधा का फायदा अगर कोई कंपनी चाहे तो वह भी उठा सकते हैं. इसके लिए कंपनी को मामूल शुल्क देना होगा. Also Read - IRCTC/Indian Railway: भारतीय रेलवे का बड़ा कदम- ट्रेनों के परिचालन में की गई कमी, इन राज्यों को सबसे ज्यादा नुकसान

हालांकि भारतीय रेलवे द्वारा यह सुविधा कुछ ही जगहों पर दी जा रही है. इन सुविधा का लाभ मुंबई, नागपुर और पुणे में रहने वाले लोग उठा सकते हैं. यही नहीं अगर आपको इस सुविधा के बारे में किसी तरह की जानकारी चाहिए तो आप फोन करके या फिर ईमेल के जरिए जानकारी जुटा सकते हैं. फोन पर जानकारी पाने के लिए आपको 9324656108 पर कॉल करना होगा. वहीं adpsmailmah@gmail.com पर ईमेल कर आप जानकारी जुटा सकते हैं.

क्या करना होगा

अगर आप अपने सामान को एक स्थान से दूसरे स्थान भिजवाना चाहते हैं तो आपको रेलवे स्टेशनों पर मौजूद पार्सल विभाग में जाकर संपर्क करना होगा. इसके बाद जैसे गाड़ियों में माल की सप्लाई होती है उससे काफी कम वक्त में आपके सामान को सुरक्षित दिए गए पते तक पहुंचा दिया जाएगा. बता दें कि इन दिनों पार्सल ट्रेनों ने देशभर में काफी महत्वपूर्ण वस्तुओं को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाया है. कोरोना महामारी के दौरान दवाई, मेडिकल उपकरणों और खाने पीने की चीजों को रेलवे के पार्सल सुविधा द्वारा कई हिस्सों में पहुंचाया गया है.