नई दिल्ली : रेलवे की योजना अगले चार साल में लगभग 14,000 करोड़ रुपये के निवेश के जरिए दिल्ली-हावड़ा और दिल्ली-मुंबई मार्गों पर यात्रा समय में पांच घंटे की कमी लाने की है. यह रेलवे के उन 11 प्रस्तावों में शामिल है, जो उसने अपनी 100 दिन की योजना के लिए तैयार किए हैं. इन प्रस्तावों का 31 अगस्त तक क्रियान्वयन करने के लिए तत्काल कार्रवाई शुरू करने का निर्देश है.

रेल राज्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा- तीसरे दर्जे में सफर करें तो पता चलेगा यात्रियों का दर्द

फिलहाल दिल्ली-हावड़ा रेल रूट पर सबसे तेज रफ्तार ट्रेन यात्रा पूरी करने में 17 घंटे का समय लेती है, जबकि दिल्ली-मुंबई मार्ग पर सबसे तेज रफ्तार ट्रेन को लगभग 15 घंटे लगते हैं. नया प्रस्ताव इस यात्रा समय में पांच घंटे की कमी लाकर इसे क्रमश: 12 और 10 घंटे करने का है. यह प्रस्ताव मंजूरी के लिए आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति को भेजा जा रहा है.

इस प्रस्ताव के दस्तावेज के अनुसार रेलवे ने इन मार्गों पर ट्रेनों की रफ्तार 130 किलोमीटर प्रति घंटे से बढ़ाकर 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार करने का लक्ष्य रखा है.

(इनपुट PTI से)