श्रीनगर: जम्मू कश्मीर (Jammu-Kashmir) के शोपियां जिले (Shopian) में सुरक्षा बलों और अज्ञात आतंकवादियों (Terrorist) के बीच हुई एक मुठभेड़ में एक अज्ञात आतंकवादी मारा गया, जबकि दो जवान घायल हो गए. यह जानकारी पुलिस ने दी. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर के शोपियां के कनिगाम इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की एक गुप्त सूचना पर घेराबंदी की और तलाशी अभियान शुरू किया. Also Read - Jammu Kashmir: श्रीनगर में टूटा पिछले 30 साल का रिकॉर्ड, जम गई डल झील

अधिकारी ने कहा कि जब सुरक्षा बल के जवान तलाशी ले रहे थे, तभी आतंकवादियों ने उन पर गोली चलायी. अधिकारी ने बताया कि इसके परिणामस्वरूप मुठभेड़ शुरू हो गई. अधिकारी ने कहा कि जवाबी गोलीबारी में एक आतंकवादी मारा गया. उन्होंने कहा कि मारे गए आतंकवादी की पहचान के साथ ही यह भी पता लगाया जा रहा है कि वह किस समूह से जुड़ा हुआ था. अधिकारी ने कहा कि गोलीबारी में दो सैनिक घायल हो गए और उन्हें चिकित्सा इकाई ले जाया गया है. आखिरी सूचना मिलने तक अभियान जारी था और आगे के विवरणों की प्रतीक्षा है. Also Read - कश्मीर में ताजा स्‍नोफॉल से आफत, श्रीनगर एयरपोर्ट में कई इंच मोटी बर्फ जमी, उड़ानें ठप

जम्मू में दो आतंकवादी गिरफ्तार, हथियार एवं गोला-बारूद जब्त
आतंकवादी संगठन ‘द रेजिस्टेंस फोर्स’ (टीआरएफ) के दो आतंकवादियों को स्थानीय पुलिस ने यहां गिरफ्तार किया. पुलिस ने शनिवार को बताया कि आतंकवादियों के कब्जे से हथियार एवं गोला-बारूद बरामद किए गए हैं. अधिकारियों ने बताया कि स्थानीय पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) ने काजीगुंड के चुरथ के रहने वाले रईस अहमद डार और कुलगाम के अश्मुजी के रहने वाले सबजार अहमद शेख को गिरफ्तार किया. Also Read - Jammu & Kashmir: आर्मी के जवानों ने बर्फीले रास्‍ते में फंसी प्रसूता और नवजात बच्‍चे की बचाई जान

ये दोनों एक कार से श्रीनगर जा रहे थे तभी नरवल बाइपास पर पुलिस ने उन्हें रोका और गिरफ्तार किया. उन्होंने बताया, ‘‘शुक्रवार शाम करीब साढ़े पांच बजे जब एसओजी दल इलाके में वाहनों की जांच कर रहा था, तब एक कार में सवार लोगों ने वाहन को वहां से भगाने की कोशिश की. संदिग्ध हरकत नजर आने पर दल ने तुरंत वाहन का पीछा किया और दो संदिग्धों को पकड़ लिया, उनके पास से एक बैग भी मिला.’’

अधिकारी ने बताया कि बैग डार के पास से मिला तथा उसमें एक एके राइफल, दो मैगजीन तथा 60 कारतूस, एक पिस्तौल, दो मैगजीन तथा 15 कारतूस मिले. प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं, शस्त्र अधिनियम एवं गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि इन लोगों को गिरफ्तार करने के साथ पुलिस ने टीआरएफ के मॉड्यूल का पर्दाफाश किया है. टीआरएफ लश्कर ए तैयबा से जुड़ा संगठन माना जाता है.