नई दिल्ली: अमेरिका में भारतीय छात्र मुश्किल में फंस गए हैं. यहां के 129 छात्रों ने जिस यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया, वह फर्जी निकली. इसके बाद इन छात्रों को अरेस्ट कर लिया गया. इनमें से कई छात्र तेलंगाना के रहने वाले हैं. भारतीय छात्रों के अरेस्ट होने का मुद्दा आज लोकसभा में उठाया गया. तेलंगाना राष्ट्र समिति ने सरकार से मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है. Also Read - COVID-19 Latest News: देश में कोरोना के 14,256 नए मामले आए, 13 लाख 90 हजार लोगों को लग चुकी है वैक्‍सीन

Also Read - विजय माल्या ने ब्रिटेन में ही रहने का 'एक और विकल्प' आजमाया, क्‍या जल्‍द नहीं हो पाएगा प्रत्‍यर्पण

BSNL Recruitment 2019: जूनियर टेलीकॉम ऑफिसर के 198 पदों पर सीधी भर्ती, कैसे करें ऑनलाइन आवेदन Also Read - Corona Vaccine in India: टीकाकरण अभियान के 7वें दिन 2.28 लाख लोगों को लगी वैक्सीन

तेलंगाना राष्ट्र समिति के एपी जितेंद्र रेड्डी ने सोमवार को शून्यकाल में इस विषय को उठाया. उन्होंने कहा कि अमेरिका के डेट्रॉइट शहर में फर्जी विश्वविद्यालय में दाखिला लेने के मामले में कई विदेशी छात्रों को गिरफ्तार किया गया है. इन 129 भारतीय छात्रों में उनके राज्य तेलंगाना के भी कुछ विद्यार्थी हैं.

राजनीति में आने के बाद Twitter पर भी एक्टिव हुईं प्रियंका, कुछ ही घंटों में हो गए इतने सारे Followers

अमेरिका में फर्जी विश्वविद्यालय में 129 भारतीय छात्रों की गिरफ्तारी के विषय को लोकसभा में उठाते हुए तेलंगाना राष्ट्र समिति ने सरकार से इस संबंध में हस्तक्षेप करने और भारतीय छात्रों को बचाने के लिए पहल करने की मांग की है. रेड्डी ने कहा कि छात्रों को नहीं पता था कि विश्वविद्यालय फर्जी है और इसमें इनका कोई दोष नहीं है. अमेरिका में उनके खिलाफ मुकदमे की तैयारी चल रही है और भारत सरकार को चाहिए कि वह भारतीय छात्रों को इस स्थिति से निकालने के लिए कदम उठाए.