नई दिल्ली: सस्ती विमान सेवा देने वाली कंपनी इंडिगो को अपने एक और ए320 नियो विमान को उड़ान सेवा से रोकना पड़ा क्योंकि दिल्ली हवाईअड्डे पर उसके इंजन ऑयल में धातु चिप्स पाई गई. इसके अलावा श्रीनगर हवाईअड्डे पर एक अन्य विमान में हाइड्रॉलिक रिसाव का भी पता चला. Also Read - लॉकडाउन की मार, अब इस एयरलाइंस कंपनी के स्टॉफ की कटेगी सैलरी

Also Read - कश्मीरः हवाई टिकट रद्द करने पर नहीं कटेगा पैसा, पर्यटकों को निकालने के लिए अतिरिक्त उड़ाने चलाएंगी कंपनियां

ये दोनों घटनाएं 12 घंटे से भी कम समय में घटी हैं. नागर विमानन महानिदेशालय पहले ही कंपनी के 11 विमानों के उड़ान भरने पर रोक का आदेश दे चुका है. इन विमानों में प्रैट एंड व्हिटनी ( पीएंडडब्ल्यू) की एक खास श्रंखला वाले इंजन लगे हैं. सूत्रों के अनुसार कंपनीके वीटी- आईटीएक्स पंजीकरण क्रमांक वाला एक और ए320 नियो विमान को उड़ान भरने से रोक दिया गया. बेंगलुरु- नई दिल्ली की उड़ान पूरी करने के बाद इस विमान के इंजन ऑयल में धातु चिप्स की पहचान की गई, जिसके बाद कंपनी को इसे उड़ान से रोकना पड़ा. Also Read - Indigo Airlines के विमान की इमरजेंसी लैंडिंग, उड़ान के दौरान धुआं उठने के बाद कॉकपिट में बजा अलार्म

यह भी पढ़ें: इंडिगो की हैदराबाद-रायपुर फ्लाइट हुई रद्द, इंजन में थी गड़बड़ी

इसके कुछ घंटों बाद दिल्ली-श्रीनगर उड़ान के श्रीनगर पहुंचने पर इसके कमांडर ने विमान के दो नंबर इंजन से हाइड्रॉलिक रिसाव के बारे में जानकारी दी. यह भी ए320 नियो विमान ही है. एक बयान में कंपनी ने कहा कि दिल्ली-श्रीनगर की उड़ान वाले विमान को रखरखाव संबंधी जांच पूरी करने के बाद उड़ान की अनुमति दे दी गई.

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने 12 मार्च को प्रैट एण्ड व्हिटनी-1100 इंजन वाले 11 ए-320 विमानों को उड़ान भरने से रोकने का आदेश दिया था. इन इंजनों में उड़ान के दौरान बंद होने की शिकायत समय समय पर मिली थी. इन 11 विमानों में आठ इंडिगो के हैं जबकि बाकी तीन गो-एयर के थे. इंडिगो के ऐसे तीन ए-320 नियो विमानों को फरवरी में पहले ही खड़ा कर दिया गया था.

बता दें कि इससे पहले जेट एयरलाइन इंडिगो की हैदराबाद से रायपुर जा रही फ्लाइट नंबर 6E 334 में कुछ खराबी आने के कारण उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही वापस हैदराबाद एयरपोर्ट पर उतारना पड़ा. शुरुआती जांच में पता चला है कि फ्लाइट के इंजन में हल्की तकनीकी खराबी आई थी जिस वजह से उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही प्लेन को उतारना पड़ा.

(पीटीआई इनपुट)