कोलकाता: जयपुर से कोलकाता जा रहे इंडिगो के एक विमान में उड़ान के दौरान धुआं उठने के बाद उसे आपात स्थिति में कोलकाता हवाई अड्डे पर उतारा गया. सरकार ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं. एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. सोमवार को हुई इस घटना में किसी भी यात्री के घायल होने की खबर नहीं है. डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद इंडिगो एयरलाइंस के विमान को उस समय इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी, जब विमान के कार्गो एरिया में धुआं निकलने के चलते काकपिट में स्मोक अलार्म बजने लगा. Also Read - मनोज तिवारी के हेलीकॉप्टर में आई तकनीकी खराबी, पटना में हुई इमरजेंसी लैंडिंग

Also Read - कोरोना के कारण खतरे में नौकरी, एयर इंडिया के बाद अब 10 फीसदी कर्मचारियों को निकालने की तैयारी में इंडिगो

Indigo Airlines बनी पहली ऐसी भारतीय विमान कंपनी जिसके बेड़े में हैं 200 Airbus Also Read - सेफ हवाई यात्रा के लिए इस एयरलाइंस का खास ऑफर, 25 फीसदी किराये में बुक कराएं दूसरी सीट

जांच की कार्रवाई शुरू

सूत्र ने बताया कि विमान के पायलट को मदद के लिए ‘मे डे’ कॉल जारी करना पड़ा. आपात स्थिति में मदद के लिए यह कॉल की जाती है. प्रैट एंड विट्नी की ओर से चलाई जाने वाली एयरबस ए-320 को पूरी तरह से आपात स्थिति में कोलकाता हवाईअड्डे पर सुरक्षित उतार लिया गया. सूत्र ने बताया कि विमान को उतारे जाने के बाद कुछ यात्रियों को आपातकालीन निकास सुविधा की मदद से बाहर निकाला गया. हालांकि विमान में सवार किसी भी यात्री के घायल होने की कोई सूचना नहीं है लेकिन इस घटना से यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई. इस विमान में उस समय 76 यात्रियों के सवार होने की सूचना मिली है.

इंडिगो के दो विमान आ गए थे आमने-सामने, 330 यात्रियों की जान थी दांव पर

इंडिगो एयर लाइंस ने इस घटना की आधिकारिक तौर पर पुष्टि की है लेकिन उनका कहना है कि इस घटना से पहले एयरबस ए-320 विमान ने कभी तकनीकी समस्या का सामना नहीं किया था. नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कॉकपिट और केबिन में धुआं उठने के बाद विमान को आपात स्थिति में उतारा गया. उन्होंने बताया कि विमान दुर्घटना जांच बोर्ड (एएआईबी) ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है. (इनपुट एजेंसी)