नई दिल्ली: अगर आप भी प्लेन में सफर करने जा रहे हैं, तो आपके लिए एक बुरी खबर है. अब फ्लाइट में सफर करना महंगा हो गया है. प्राइवेट एयरलाइन कंपनियों ने अब अधिक सामान पर चार्ज में इजाफा करना शुरू कर दिया है. डोमेस्टिक फ्लाइट में 15kg से ज्यादा बैगेज ले जाना अब महंगा हो गया है. कंपनियां ने प्री-बुकिंग चार्जेस भी बढ़ा दिए हैं और ज्यादा वजन होने पर लगने वाले चार्ज में भी इजाफा कर दिया है. केवल सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया एक मात्र ऐसी कंपनी है, जिसमें आप 25 केजी तक बैगेज फ्री में ले जा सकते हैं. इंडिगो, स्पाइसजेट और गो-एयर तीनों ही बढ़े हुए चार्जेस को लागू कर चुके हैं. Also Read - कोरोना संकट: पाकिस्तानी ATC ने एयर इंडिया की तारीफ में कही ये बात

इंडिगो, और गो-एयर अब हर एक अतिरिक्त किलो पर अब 300 की जगह 400 रुपए चार्ज वसूलेंगी. यानी 15 kg से ज्यादा जितना भी सामान का वजन होगा, उस पर 400 रुपए प्रति किलो के हिसाब से पैसे देने होंगे. इंडिगो ने प्री-बुकिंग चार्जेस में 33% तक की बढ़ोत्तरी कर दी है. Also Read - Coronavirus Effect: एयर इंडिया ने 30 अप्रैल तक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बुकिंग रद्द की

इंडिगो में प्री-बुकिंग का चार्ज अब कितना हुआ
इंडिगो ने 5 kg अतिरिक्त बैगेज के लिए 1900 रुपए, 10 kg अतिरिक्त बैगेज के लिए 3800 रुपए, 15 kg अतिरिक्त बैगेज के लिए 5700 रुपए और 30 kg अतिरिक्त बैगेज के लिए 11,400 रुपए चार्ज फिक्स कर दिया है. Also Read - अगर सरकार हां करे, प्रवासियों को दिल्ली,मुंबई से पटना छोड़ आएंगे : स्पाइसजेट

स्पाइसजेट में प्री-बुकिंग चार्ज कितना देना होगा
स्पाइसजेट ने 5 kg के लिए 1600 रुपए, 10 kg के लिए 3200 रुपए, 15 kg के लिए 4800 रुपए, 20 kg के लिए 6400 रुपए और 30 kg के लिए 9600 रुपए चार्ज फिक्स कर दिया है.

जेट एयरवेज
जेट 15 जुलाई से वन बैग कॉन्सेप्ट को लागू करेगा. इसके तहत डोमेस्टिक पैसेंजर्स को 15kg तक वजन का एक बैग ले जाने की ही परमीशन होगी.

लो-कॉस्ट कैरियर कंपनियों ने पिछले साल अगस्त में 5, 10, 15, 20 और 30 किलो का एडिशनल बैगेज ले जाने की प्री-बुकिंग करने पर 1425 रुपए, 2850 रुपए, 4275 रुपए व 8550 रुपए तय किए थे. वहीं प्री-बुकिंग नहीं करने वालों को 300 रुपए प्रति किलो एक्स्ट्रा चार्ज तय किया था.