नई दिल्ली: आज पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 101वीं जयंती है. इस अवसर पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस की शीर्ष नेता सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को उनकी 101वीं जयंती के अवसर पर श्रद्धांजलि दी. इन नेताओं ने सुबह शक्ति स्थल पहुंचकर इंदिरा गांधी को श्रद्धा-सुमन अर्पित किए. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर इंदिरा गांधी को याद करते हुए लिखा ‘Forgiveness is a virtue of the brave. यानि ‘क्षमाशील होना बहादुर की निशानी है’. 31 अक्टूबर, 1984 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की उनकी सुरक्षा में तैनात कर्मी ने ही गोलियों से छलनी कर उनकी हत्या कर दी थी.Also Read - राहुल गांधी का केंद्र पर बड़ा हमला, कहा- आंदोलन में जान गंवाने वाले 700 किसानों के परिजनों के बारे में सोचें पीएम, मुआवजा दें

Also Read - Prashant Kishore का हमला- 'विपक्ष का नेतृत्व Congress का दैवीय अधिकार नहीं, 10 साल में 90% चुनाव में मिली है हार' |

Also Read - Mamata Banerjee बोलीं अब कोई UPA नहीं बचा, कांग्रेस ने कहा- सिर्फ अपने बारे में सोचने वाले BJP को ही मजबूत करेंगे

इनके अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद, वरिष्ठ नेता पीसी चाको, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन और पार्टी के अन्य नेताओं व कार्यकर्ताओं ने भी श्रद्धांजलि दी.

इंदिरा गांधी का जन्म 19 नवंबर, 1917 को इलाहाबाद में हुआ था. वह दो अलग-अलग अवधि में 15 वर्षों से अधिक समय तक देश की प्रधानमंत्री रहीं. अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में आपरेशन ब्लू स्टार के कुछ समय बाद ही 31 अक्टूबर, 1984 को प्रधानमंत्री आवास त्रिमूर्ति भवन में उनकी हत्या कर दी गई थी. जिसके बाद पूरे देश में सिख विरोधी दंगे हुए थे. इंदिरा गांधी के प्रधानमंत्रित्व काल में ही 1971 के भारत-पाक युद्ध में भारत विजयी हुआ था. पाकिस्तान को अपने 91 हजार सैनिकों के साथ भारतीय सेना के सामने एटीएम समर्पण करना पड़ा था और स्वतंत्र बांग्लादेश का उदय हुआ था.

कांग्रेस के पास नहीं है पैसा! दिल्ली में मुख्यालय का निर्माण कार्य अटका