नई दिल्ली: भारत-अमेरिका संबंधों में पीएम मोदी के कार्यकाल में काफी सकारात्मक बदलाव हुए हैं. उसी क्रम में सोमवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फोन पर बातचीत कर एक दूसरे को नव वर्ष की बधाई दी और साथ ही अमेरिका ने भारत की कई मुद्दों पर सराहना भी की दोनों देशों के प्रमुखों ने रक्षा, आतंकवाद विरोधी कदमों और ऊर्जा के क्षेत्रों में बढ़ते द्विपक्षीय सहयोग को भी सराहा. नए साल की शुरुआत में ही अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में भारत के साथ बहुमुखी संबंधों को मजबूत करने और क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए एक विधेयक पर भी हस्ताक्षर किए थे.

एक दूसरे की प्रशंसा
पीएम मोदी और ट्रंप की बातचीत के बारे में जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने बातचीत के दौरान एक दूसरे को नव वर्ष की शुभकामनाएं दीं और वर्ष 2018 में भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक साझीदारी लगातार बढ़ने पर संतोष व्यक्त किया. उन्होंने नई 2+2 वार्ता व्यवस्था और भारत, अमेरिका एवं जापान के बीच पहले त्रिपक्षीय शिखर सम्मेलन की भी प्रशंसा की. गौरतलब है कि भारत और अमेरिका के संबंधों के लिहाज से साल 2018 कई अहम मुद्दों पर बेहद महत्वपूर्ण रहा. हालांकि कुछ मुद्दों पर विवाद भी रहे बावजूद इसके भारत और अमेरिका ने 2018 में अपनी रणनीतिक और रक्षा संबंधों को मजबूत बनाने में ऐतिहासिक प्रगति की. जापान के साथ पहली त्रिपक्षीय बैठक आयोजित करने से लेकर पहली 2+2 वार्ता तक, भारत और अमेरिका इस साल अपने द्विपक्षीय संबंधों को नई ऊंचाइयों पर ले गए.

अमेरिका से रिश्तों में मजबूती: ट्रंप ने हिंद-प्रशांत इलाके में भारत के साथ भागीदारी विधेयक पर हस्ताक्षर किया

वार्ता के दौरान दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय एवं वैश्विक मामलों पर समन्वय के अलावा रक्षा, आतंकवाद रोधी कदमों और ऊर्जा के क्षेत्र में बढ़ते द्विपक्षीय सहयोग को भी सराहा. पीएम मोदी और ट्रंप की सोमवार शाम हुई वार्ता में 2019 में भारत-अमेरिकी संबंधों को और मजबूत बनाने तथा मिलकर काम करने पर सहमति जताई गई. छिटपुट व्यापारिक विवादों के बावजूद, भारत-अमेरिका के वाणिज्यिक और रणनीतिक संबंध पिछले कुछ वर्षों से लगातार मजबूत हो रहे हैं, जो तेजी से द्विपक्षीय व्यापार का विस्तार कर रहे हैं.

Year Ender 2018: ‘भारत-अमेरिका’ नई उंचाइयों पर पहुंचे संबंध, ऐतिहासिक रहा ये साल