इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में आयोजित एक कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, केंद्रीय मंत्री वैंकैया नायडू और मुख्यमंत्री शिवराज सिंंह चौहान सहित कई दिग्गज नेता बाल-बाल बच गए. लेकिन 23 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए.Also Read - Kerala Rain Update: केरल में भारी बारिश, मौसम विभाग ने ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया

दरअसल हुआ यूं कि इंदौर नगर निगम द्वारा आयोजित ‘प्रणाम इंदौर’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, केंद्रीय मंत्री वैंकैया नायडू और मुख्यमंत्री शिवराज सिंंह चौहान सहित कई दिग्गज नेता पहुंचे थें कुछ देर तक सबकुछ ठीक चला लेकिन कुछ देर बाद ही मौसम का मिजाज बदल गया. Also Read - Uttarakhand News: अचानक टूटा नदी पर बना पुल, बहने लगीं गाड़ियां, कुछ फंसी और कुछ पलट गईं, देखें VIDEO

तेज बारिश और आंधी की खबर मिलते ही बीच कार्यक्रम से सुमित्रा महाजन और वैंकया नायडू तो निकल गए लेकिन शिवराज सिंह चौहान वही ठहरे रहें. इसके कुछ देर बाद ही बारिश और तेज आंधी आई जिससे पंडाल गिर गया और अफरातफरी का माहौल बन गया. लोगों के बीच भगदड़ मच गई. जिसके चलते करीब 23 लोग जख्मी हो गए. जिनमें 4 की हालत गंभीर बताई जा रही है. Also Read - MP Weather Forecast: मध्य प्रदेश के चार जिलों में बहुत भारी बारिश का पूर्वानुमान, आईएमडी ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

भारी बारिश और पंडाल ढहने से पहले की फोटो में कार्यक्रम के दौरान दीप प्रज्वलित करते हुए सुमित्रा महाजन, वेंकैया नायडु औ शिवराज सिंह चौहान

भारी बारिश और पंडाल ढहने से पहले की फोटो में कार्यक्रम के दौरान दीप प्रज्वलित करते हुए सुमित्रा महाजन, वेंकैया नायडु औ शिवराज सिंह चौहान

इस मामले में जानकारी देते हुए एडीएम अजय देव शर्मा ने बताया कि दशहरा मैदान पर आयोजित ‘प्रणाम इंदौर’ कार्यक्रम में पंडाल गिरने से कम से कम 23 घायल लोगों को नजदीक के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. यह कार्यक्रम केंद्र  सरकार द्वारा आयोजित ‘स्वच्छता सर्वेक्षण 2017’ में इंदौर को देश के सबसे स्वच्छ शहर का खिताब मिलने के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था.

एडीएम ने बताया कि पंडाल गिरने से घायल लोगों में शामिल चार गंभीर मरीजों को अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया, जिन्हें सिर और सीने में चोट आयी है. इन मरीजों की हालत फिलहाल स्थिर है.

चश्मदीद लोगों के मुताबिक भारी बारिश के दौरान अचानक पंडाल गिरने से कार्यक्रम में मौजूद सैकड़ों लोगों में भगदड़ मच गयी. इस दौरान पंडाल की बिजली भी गुल हो गयी. पंडाल में घुटने-घुटने तक पानी भर गया. घबराये लोग जैसे-तैसे पंडाल से बाहर निकले.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मौके पर मौजूद रहकर राहत कार्य का निरीक्षण किया और अधिकारियों को जरूरी निर्देश देकर घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया.