श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा और शोपियां जिले को छोड़ कर समूची कश्मीर घाटी में 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई है. प्रधान सचिव (गृह) शालीन काबरा ने 2जी इंटरनेट सेवा बहाल करने के आदेश देते हुए कहा कि इससे उच्च गति वाले इंटरनेट का इस्तेमाल हानिकारक तत्व आतंकवादी हमलों को अंजाम देने के लिए अथवा दुष्प्रचार कर लोगों को भड़काने के लिए कर सकते हैं. Also Read - सुरक्षाबलों ने कैसे रोका पुलवामा 2.0, IG ने सुनाई हैरतअंगेज दास्तां

कश्मीर के दस जिलों में से आठ जिलों में सोमवार रात 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई. पिछले बुधवार को हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी रियाज नायकू के सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे जाने के बाद घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी. इससे पहले सोमवार को उच्चतम न्यायालय ने जम्मू कश्मीर में 4जी इंटरनेट सेवा बहाल करने के आदेश देने से इनकार कर दिया था और याचिका की दलीलों पर विचार के लिये गृह सचिव की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय विशेष समिति गठित करने का आदेश दिया था. Also Read - पुलवामा में साल 2019 जैसे आतंकी हमले की साजिश नाकाम, कार में प्लांट IED को किया गया डिफ्यूज

बता दें कि घाटी में इंटरनेट व फोन कॉलिंग सेवाओं को आतंकी रियाज नायकू के एनकाउंटर के बाद से ही बंद किया गया है. बता दें कि साल 2016 में आतंकी बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद घाटी में उपद्रवियों ने काफी उत्पात मचाया था. इस लिहाज से नायकू के एनकाउंटर के वक्त से ही घाटी में इंटरनेट व फोन कॉलिंग सुविधाओं को रोक दिया गया था ताकि किसी तरह के अफवाह को न फैलाया जा सके. Also Read - बिगड़े बोल: इमरान खान बोले- भारत की अहंकारी नीतियां पड़ोसी देशों के लिए खतरा, कश्मीर पर किया कब्ज़ा