नई दिल्ली: सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत अगले वित्त वर्ष में 2000 रुपए की पहली किस्त अप्रैल के पहले सप्ताह में ही किसानों के खाते में डालने की गुरुवार को घोषणा की. 8.69 करोड़ किसानों को अप्रैल के पहले सप्ताह में 2000- 200 हजार रुपए कि किस्त प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत उनके खातों में पहुंचेगी. Also Read - देश के 80 करोड़ गरीबों के लिए मोदी सरकार के Rs. 1.70 लाख करोड़ के राहत पैकेज की खास बातें

कोरोना वायरस से देश व्यापी बंदी की स्थिति में लोगों की मदद के तहत यह निर्णय किया गया है और इससे 8.69 करोड़ किसानों को फायदा होगा. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने तीन सप्ताह की बंदी लागू करने के 36 घंटे के अंदर एक बड़े आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज के तहत यह घोषणा करते हुए कहा कि ‘पीएम किसान के तहत किसानों को साल में 6,000 रुपए मिलते हैं. हम इसकी पहली किस्त अब शुरू में ही भुगतान किए जाने वाले मामले की तरह करेंगे, ताकि वे वित्त वर्ष के प्रारंभ में ही 2000 रुपए पा सकेंगे.’ Also Read - EPF से निकासी के नियम बदलेगी सरकार, 75% तक रकम आसानी से ऐसे निकाल पाएंगे

वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि इससे 8.69 करोड़ किसानों को लाभ होगा. उन्होंने अर्थव्यवस्था में किसानों के महत्व को बताते हुए कहा कि किसान 1.3 अरब की हमारी आबादी के लिए अन्न पैदा करता है.

पीएम किसान योजना में केंद्र सरकार किसानों को प्रत्येक वित्त वर्ष में तीन बराबर किस्तों में कुल छह हजार रुपए देती है. यह राशि किसानों को सीधे उनके बैंक खातों में दी जाती है. आय वाले बड़े किसानों को छोड़ कर गरीब सभी किसान इस योजना के लाभ के पात्र है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना वायरस महामारी और उसके आर्थिक प्रभाव से निपटने के लिए गुरुवार को राहत
पैकेज की घोषणा की.

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत राशन की दुकानों से 80 करोड़ लोगों को अगले तीन महीने तक प्रति व्यक्ति 5
किलो गेहूं या चावल तथा इसके अलावा प्रति राशन कार्ड एक किलो दाल मुफ्त मिलेगी. 20.5 करोड़ महिला जनधन खाताधारकों को अगले तीन महीने तक हर महीने 500 रुपए दिए जाएंगे. तीन करोड़ गरीब वृद्धों, विधवाओं तथा गरीब दिव्यांगों को 1000- 1000 हजार रुपए मिलेंगे. मनरेगा के तहत 5 करोंड़ श्रमिकों की दैनिक मजदूरी 182 रुपए से बढ़कर 202 रुपए की गई. 8.69 करोड़ किसानों को अप्रैल के पहले सप्ताह में 2000- 200 हजार रुपए कि किस्त प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत उनके खातों में पहुंचेगी. उज्ज्वला योजना के 8.3 करोड़ गरीब परिवारों के लाभार्थियों को अगले तीन महीने तक फ्री रसोई गैस सिलिंडर मिलेगा.