कोयंबटूर: तिरुपुर की एक अदालत ने एक बीमा कंपनी को पांच साल पहले हादसे में अपनी आंखें गंवाने वाले 47 वर्षीय एक व्यक्ति को एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने का आदेश दिया है. तिरुपुर में द्वितीय अतिरिक्त जिला न्यायाधीश की लोक अदालत में जब मामला सुनवाई के लिए आया तो निजी बीमा कंपनी ने के जयप्रकाश भूपति को मुआवजे का भुगतान करने पर सहमति जता दी. Also Read - बिहार में भीषण सड़क हादसा, कार और ट्रैक्टर की टक्कर में 12 लोगों की मौत

एक डाइंग कंपनी में काम करने वाले भूपति मार्च 2013 में अपनी पत्नी के साथ मोटरसाइकिल से जा रहे थे जब विपरीत दिशा से आ रहे एक दोपहिया वाहन ने टक्कर मार दी. Also Read - बिहार: ट्रैक्टर और स्कॉर्पियो के बीच भीषण टक्कर से 11 लोगों की मौत, 4 गंभीर रूप से घायल

गंभीर रूप से घायल भूपति को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालांकि, उनकी दोनों आंखें इस हादसे में चली गईं. उसी साल जून में तिरुपुर के द्वितीय अतिरिक्त जिला न्यायाधीश की अदालत में मुआवजे के लिये एक मामला दायर किया गया और 2016 से मामले पर सुनवाई चल रही थी. भूपति और बीमा कंपनी के प्रतिनिधियों ने सुनवाई में हिस्सा लिया. Also Read - कर्नाटकः ब्रेजा और टवेरा की भिड़ंत में पांच महिलाएं और दो बच्चों सहित 13 लोगों की मौत

सुनवाई के दौरान बीमा कंपनी ने एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने पर सहमति जता दी. इसपर दंपति ने भी सहमति जता दी. तत्काल भूपति के नाम का चेक तैयार किया गया और प्रधान जिला न्यायाधीश एस अली ने यह चेक उनकी पत्नी को सौंपा.