Sangeeta Phogat-Bajrang Punia Marriage: द्रोणाचार्य अवॉर्ड से सम्मानित महाबीर फोगाट की तीसरी बेटी एवं अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान संगीता फोगाट (Sangeeta Phogat) व अंतरराष्ट्रीय पहलवान बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) की शादी की रस्में शुरू हो गई हैं और दोनों पहलवान 25 नवंबर को परिणय सुत्र में बंधेंगे. शादी में दोनों सात नहीं बल्कि आठ फेरे लेंगे. परिजनों के मुताबिक बजरंग पूनिया और संगीता फोगाट सिर्फ एक रुपए में शादी करेंगे. उन्होंने बताया कि शादी में सात नहीं आठ फेरे लिए जाएंगे और 8वां फेरा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के नाम का होगा.Also Read - दूल्हा मंगलसू्त्र नहीं लाया और लड़की ने शादी से कर दिया इनकार, जानें फिर कैसे हुआ विवाह | देखें वीडियो

Also Read - अजब-गजब: बिजली ने की कारामात, बदल गई दुल्हन, दूल्हे ने उठाया घूंघट तो मच गया बवाल, दोबारा हुई शादी, जानिए ...

शादी समारोह सादगीपूर्ण माहौल में बलाली गांव में ही संपन्न होगा. समारोह में कोई नामी हस्ती भी नहीं पहुंचेगी और परिवार के सदस्यों की मौजूदगी ही में शादी संपन्न होगी. बजरंग 20 बरातियों के साथ संगीता फोगाट से विवाह करने पहुंचेंगे. दोनों ही परिवारों से करीब 50 लोग शादी समारोह में हिस्सा लेंगे. Also Read - हद है ये तो...इस देश में दूल्हा-दुल्हन की अपील-हमारी शादी में आएं-खाना खाएं, गिफ्ट नहीं पैसे देकर जाएं-PICS

संगीता के भाई राहुल फोगाट ने बताया कि शनिवार रात को बलाली स्थित घर पर ही बान की रस्म अदा की गई. समारोह में शामिल होने संगीता की बड़ी बहन एवं दंगल गर्ल गीता फोगाट भी पहुंचीं. उनके अलावा केवल परिवार के सदस्य ही मौजूद रहे. राहुल ने बताया कि रविवार को महिला संगीत का आयोजन किया गया और 24 नवंबर को मेहंदी की रस्म अदा की जाएगी.

उन्होंने बताया कि शादी बिल्कुल सादगी से संपन्न होगी और परिवार स्तर के समारोह की तैयारियां चल रही हैं. उन्होंने बताया कि शादी के लिए किसी भी सेलिब्रेटी या दिग्गज हस्ती को निमंत्रण नहीं भेजा गया है. संगीता के पिता महाबीर फोगाट का कहना है कि दोनों परिवारों की रजामंदी से सगाई पहले ही कर दी गई थी और दोनों परिवारों ने मिलकर सादगीपूर्ण तरीके से शादी समारोह करने का निर्णय लिया है.

उन्होंने बताया कि उनकी बड़ी बेटी गीता और बबीता फोगाट ने भी अपनी शादी में आठ फेरे लिए थे, आठवां फेरा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ और बेटी को खिलाओ के तहत था और उनकी तीसरी बेटी संगीता भी इस परंपरा को बरकरार रखेगी और बजरंग के साथ आठ फेरे लेकर परिणय सूत्र में बंधेगी.