कोरोना महामारी की भयंकर त्रासदी के बीच आज देश और दुनियर में 7 वां योग दिवस मनाया जा रहा है. पूरे- देश और दुनिया में मनाए जा रहे इंटरनेशनल योग दिवस 2021 की अद्भुत तस्‍वीरें और फोटोज सामने आ रही हैं.Also Read - भारत ने 31 अगस्‍त तक इंटरनेशनल यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध बढ़ाया, पढ़े ये गाइडलाइंस

आज पीएम नरेंद्र मोदी ने योग दिवस पर अपने संबोधन में कहा, जब भारत नें संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा था तो उसके पीछे ये ही भावना थी की योग विज्ञान पूरे विश्व के लिए सुलभ हो. इस दिशा में भारत ने संयुक्त राष्ट्र, WHO के साथ मिलकर एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है. अब विश्व को M-Yoga एप की शक्ति मिलने जा रही है. Also Read - Coronavirus Cases In Kerala: केरल से होगी थर्ड वेब की शुरुआत? आज फिर 20 हजार से अधिक मामले आए सामने

दिल्ली में आज सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में योग किया. Also Read - Coronavirus cases In India: कोरोना की तीसरी लहर की तरफ बढ़ रहा देश, 24 घंटे में 555 लोगों की हुई मौत

इंटरनेशनल योग डे पर आज ITBP (भारत-तिब्बत सीमा पुलिस) के जवानों ने लद्दाख में 18,000 फीट की ऊंचाई पर योग किया.

बता दें कि 21 जून की तारीख ने पिछले कुछ ही बरस में इतिहास में एक महत्वपूर्ण स्थान हासिल कर लिया है.

अन्य तमाम घटनाओं के अलावा यह तारीख 6 वर्ष पहले अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में इतिहास में दर्ज , जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने का आह्वान किया और देखते ही देखते दुनिया के तमाम देश इस मुहिम में शामिल हो गए.

भारत सहित दुनिया भर में 21 जून को योग दिवस का त्यौहार मनाया जाता है और सभी इसमें बढ़ चढ़कर शिरकत करते हैं.

21 जून के दिन की एक खासियत है कि यह वर्ष के 365 दिन में सबसे लंबा दिन होता है और योग के निरंतर अभ्यास से व्यक्ति को लंबा जीवन मिलता है इसलिए इस दिन को योग दिवस के रूप में मनाने का निर्णय किया गया.

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने नागपुर में योग किया

वैश्विक महामारी के दौरान योग उम्मीद की किरण बना रहा : मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर लोगों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज जब पूरा विश्व वैश्विक महामारी कोविड-19 का मुकाबला कर रहा है, तो योग उम्मीद की एक किरण बना हुआ है.

योग आत्मबल का एक बड़ा माध्यम बना
प्रधानमंत्री ने कहा, ”जब कोरोना के अदृश्य वायरस ने दुनिया में दस्तक दी थी, तब कोई भी देश, साधनों से, सामर्थ्य से और मानसिक अवस्था से, इसके लिए तैयार नहीं था. हम सभी ने देखा है कि ऐसे कठिन समय में, योग आत्मबल का एक बड़ा माध्यम बना.”

मुश्किल समय में लोगों में योग का उत्साह बढ़ा है, योग से प्रेम बढ़ा
पीएम मोदी ने कहा, ”दो वर्ष से दुनिया भर के देशों में और भारत में भले ही बड़ा सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित नहीं हुआ हो, लेकिन योग दिवस के प्रति उत्साह कम नहीं हुआ है. इस मुश्किल समय में, इतनी परेशानी में लोग इसे भूल सकते थे, इसकी उपेक्षा कर सकते थे. लेकिन इसके विपरीत, लोगों में योग का उत्साह बढ़ा है, योग से प्रेम बढ़ा है.”

योग हमें तनाव से शक्ति का और नकारात्मकता से रचनात्मकता का रास्ता
मोदी ने कहा कि योग हमें तनाव से शक्ति का और नकारात्मकता से रचनात्मकता का रास्ता दिखाता है. उन्होंने विश्वास जताया कि योग जनता के स्वास्थ्य की देखभाल में निवारक एवं प्रेरक भूमिका निभाता रहेगा.

 योग विज्ञान पूरे विश्व के लिए सुलभ हो
पीएम ने कहा, ”जब भारत ने संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा था, तो उसके पीछे यही भावना थी कि यह योग विज्ञान पूरे विश्व के लिए सुलभ हो। आज इस दिशा में भारत ने संयुक्त राष्ट्र, विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ मिलकर एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है.”

अब विश्व को ‘एम-योग’ ऐप की शक्ति
प्रधानमंत्री ने इस मौके पर योग संबंधी एक ऐप शुरू करने की जानकारी दी. उन्होंने कहा, ”अब विश्व को ‘एम-योग’ ऐप की शक्ति मिलने जा रही है. इस ऐप पर योग संबंधी सामान्य नियमों के आधार पर योग प्रशिक्षण के कई वीडियो दुनिया की अलग-अलग भाषाओं में उपलब्ध होंगे.

Live Updates