Interstate bus service in Delhi Starts : दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने शुक्रवार को ‘एसओपी’ के साथ अंतर-राज्यीय बस सेवाएं शुरू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी. एक अधिकारी ने ये जानकारी दी. इसके अलावा उपराज्यपाल अनिल बैजल ने यहां कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के बावजूद बसों में सभी सीटों पर यात्रियों को बिठाने के दिल्ली सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. कोरोना वायरस महामारी के चलते फिलहाल बसों में फिलहाल 20 सवारियों को ही चढ़ने की इजाजत थी. Also Read - गुजरात से BJP के राज्यसभा सांसद अभय भारद्वाज का कोरोना संक्रमण से निधन, PM मोदी ने जताई संवेदना

त्योहारी सीजन को देखते हुए उप राज्यपाल ने दिल्लीवासियों के लिए ये राहत दी है. अब डीटीसी और क्लस्टर बसों में उसकी पूरी सिटिंग कपैसिटी के हिसाब से सवारियां सफर कर सकेंगी. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के अध्यक्ष बैजल ने अंतर-राज्यीय बस सेवाएं बहाल करने की भी मंजूरी दे दी और उसके लिए मानक संचालन प्रक्रिया की योजना पर काम चल रहा है एवं अगले सप्ताह से इस सेवा के बहाल होने की संभावना है. Also Read - Delhi Corona Updates: दिल्ली में बीते 24 घंटों में कोरोना के 4 हजार से अधिक केस और 86 की मौत

प्राधिकरण की 23 अक्टूबर को एक बैठक में डीटीसी और क्लस्टर बसों में यात्रियों की संख्या बढ़ाने का मुद्दा उठाया गया था. परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने मांग की थी कि बसों में पूरी सीटें भरी हो परंतु किसी को खड़े होकर सफर करने की इजाजत न हो. डीटीसी और क्लस्टर बसों में 40-45 सीटें होती हैं. बसों में कम यात्रियों को चढ़ने की इजाजत की वजह से स्टैंडों पर बड़ी भीड़ हेाती है. Also Read - सरकार के बुलावे पर मीटिंग के लिए पहुंचे किसान नेता, यूं दिखे आत्‍मविश्‍वास से भरे तेवर

बता दें कि दिल्ली सरकार ने बसों में 20 सवारियों की लिमिट को खत्म करने के लिए उपराज्यपाल के पास प्रस्ताव भेजा था जिसे उन्होंने शुक्रवार को मंजूरी दे दी. इसके अलावा इंटरस्टेट बस सेवाओं की बहाली व बसों में 20 सवारियों की लिमिट को खत्म करने के संबंध में शनिवार को स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसेजर (SOP) जारी किया जाएगा.

(इनपुट भाषा)