श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि प्रधानमंत्री राजीव गांधी शुरू में भ्रष्ट नहीं थे, लेकिन कुछ लोगों के प्रभाव में आकर वह बोफोर्स भ्रष्टाचार मामले में शामिल हो गए. जम्मू कश्मीर के राज्यपाल भाजपा के बागी नेता अजय अग्रवाल द्वारा जारी 76 सेकंड के उस ऑडियो क्लिप पर प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें मलिक ने सुप्रीम कोर्ट के वकील को कहा था कि राजीव गांधी भ्रष्ट नहीं थे. राज्यपाल ने गुरुवार को कहा, ”शुरू में वह भ्रष्ट नहीं थे, लेकिन बाद में कुछ लोगों के प्रभाव में आकर, जिनका मैं नाम नहीं लूंगा, वह (राजीव गांधी) बोफोर्स भ्रष्टाचार मामले में शामिल हो गए. Also Read - West Bengal Polls: पश्चिम बंगाल में शिवसेना नहीं लड़ेगी विधानसभा चुनाव, ममता बनर्जी का करेगी समर्थन

Also Read - 24 घंटे में तीन लोगों की हुई हत्या, भाजपा विधायक बोले- यूपी की तरह बिहार में भी पलटनी चाहिए गाड़ी

PM मोदी ने चेताया, ‘महामिलावट’ वाली सरकार चाहने वालों से रहें सावधान Also Read - Kerala Assembly Elections 2021: 'मेट्रो मैन' E Sreedharan होंगे मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार?

ऑडियो क्लिप में मलिक यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं, राजीव मूलत: भ्रष्ट नहीं था और ये मुझे अरुण नेहरू ने भी कहा कि एआईसीसी से जो खर्चा मिलता था उन दिनों, जब ये घूमते फिरते थे, तो ये गैर-जरूरी खर्चा भी नहीं लेता था. अरुण नेहरू का ये कहना था.

यदि महागठबंधन वालों को गलती से मौका मिला तो प्रधानमंत्री कौन होगा: अमित शाह

मलिक ने कहा कि बोफोर्स भ्रष्टाचार मामले के मद्देनजर उन्होंने और पीडीपी संस्थापक मुफ्ती मोहम्मद सईद ने राज्यसभा की सदस्यता छोड़ दी थी और जन मोर्चा का गठन किया था. उन्होंने यहां ‘ट्रैफिक ग्रेड सेपरेटर्स’ का उद्घाटन करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा, इन सबका मतलब यह है कि हमने स्वीकारा कि राजीव गांधी बोफोर्स घोटाला में शामिल थे. शुरू में वह अच्छे थे लेकिन बाद में कुछ लोगों के प्रभाव में आ गए और अंतत: वह बोफोर्स (घोटाला) के लिए जिम्मेदार बने.

मेरे पास लिस्‍ट है, कांग्रेस- विपक्ष ने पीएम मोदी को 56 गालियां दीं: नितिन गडकरी

ग्रेड सेपरेटर एक तकनीकी शब्द है, जिसका इस्तेमाल इंजीनियर करते हैं. ग्रेड सेपरेटर में फ्लाईओवर (या ओवर पास), अंडरपास, सुरंग, सड़क या रेल पुल को शामिल किया जा सकता है.

सर्जिकल और एयर के बाद अब पाकिस्तान पर होगी ‘वाटर स्ट्राइक’!

यह पूछे जाने पर कि क्या चुनाव प्रचार में राजीव गांधी के नाम को लाना सही है, इस पर मलिक ने भाजपा का बचाव करते हुए कहा कि अगर महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का जिक्र चुनावों में किया जा सकता है, तो राजीव गांधी का भी जिक्र किया जा सकता है. मलि‍क ने कहा, अगर राजीव के बेटे आपको चोर कहते हैं तो क्या आप उन्हें नहीं बताएंगे कि आप कौन हैं और आपकी विरासत क्या है.

राखी सावंत ने सोशल मीडिया पर फिर मचाया तहलका, पाकिस्तानी झंडे के साथ खिंचवाईं फोटो