नई दिल्ली: पूर्व केंद्री वित्तमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सोमवार को कहा कि वह नहीं चाहते कि आईएनएक्स मीडिया मामले में संलिप्त ‘किसी भी अधिकारी’ को गिरफ्तार किया जाए, क्योंकि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है. वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं. अपने परिवार द्वारा आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट का हवाला देते हुए उन्होंने ट्वीट किया, “मैंने अपने परिवार से इस बारे में ट्वीट करने का आग्रह किया था. लोगों ने मुझसे पूछा है कि ‘जिन दर्जनों अधिकारियों ने इस मामले को आगे बढ़ाया और आपके समक्ष अनुशंसित किया, क्या उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाना चाहिए? आपको क्यों गिरफ्तार किया गया है? केवल इसलिए कि आपने अंतिम हस्ताक्षर किए हैं? मेरे पास इसका कोई जवाब नहीं है.” चिदंबरम ने कहा, “किसी भी अधिकारी ने गलत नहीं किया है. मैं किसी की भी गिरफ्तारी नहीं चाहता.”

INX मीडिया केस: चिदंबरम से 90 घंटे में पूछे गए थे 425 सवाल, CBI जल्द करेगी आरोप पत्र दाखिल

चिदंबरम की 14 दिनों की सीबीआई हिरासत खत्म होने के बाद उन्हें गुरुवार को उच्च सुरक्षा वाले तिहाड़ जेल भेजा गया था. वरिष्ठ कांग्रेस नेता कथित रूप से अपने बेटे कार्ति चिदंबरम के कहने पर आईएनएक्स मीडिया को एफआईपीबी की मंजूरी दिलाने में कथित अनियमितता के कारण केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय के जांच के घेरे में हैं. चिदंबरम और उनके बेटे का नाम आईएनएक्स मीडिया के सह संस्थापकों पीटर और इंद्राणी मुखर्जी ने लिया था. ये फिलहाल मुंबई में इंद्राणी की बेटी शीना बोरा की हत्या के मामले में जेल में बंद हैं.

चिदंबरम के समर्थन में उतरे राहुल-प्रियंका समेत कांग्रेस के कई दिग्गज, कही ये बात

चिदंबरम ने अपने ट्वीट के जरिए यह रेखांकित करने की कोशिश की है कि उन्होंने छह सदस्यी विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की अनुशंसा पर केवल हस्ताक्षार किए थे. गुरुवार को, चिदंबरम ने तिहाड़ जेल जाने से पहले सरकार पर निशाना बनाने का आरोप लगाया और अपनी गिरफ्तारी को राजनीतिक विद्वेष से प्रेरित बताया. इसके साथ ही उन्होंने सुस्त अर्थव्यवस्था पर केंद्र का मजाक भी उड़ाया था. सुनवाई के बाद, चिदंबरम ने अपनी गिरफ्तारी पर और कुछ कहने के स्थान पर कहा था, “पांच प्रतिशत. क्या आप जानते हैं कि पांच प्रतिशत क्या है?” वह नवीनतम जीडीपी आंकड़ों का संदर्भ दे रहे थे.