नयी दिल्ली: सीबीआई में उठे विवादों के बाद उसे नया मुखिया मिल गया है. ऋषि कुमार शुक्ला को सीबीआई का नया डायरेक्टर बनाया गया है. कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश के अनुसार ऋषि कुमार शुक्ला को दो साल के तय कार्यकाल के लिए शनिवार को सीबीआई का निदेशक नियुक्त किया गया है. कैबिनेट की न‍ियुक्‍ति सम‍िति‍ ने उनके नाम को मंजूरी दे दी है.

आलोक वर्मा के खिलाफ CVC ने दिए ठोस सबूत, जानिए किन वजहों से हटाए गए CBI निदेशक

ऋषि कुमार शुक्ला मध्य प्रदेश पुलिस के प्रमुख रह चुके हैं. 1983 बैच के मध्य प्रदेश काडर के आईपीएस अधिकारी फिलहाल मध्य प्रदेश पुलिस आवास निगम के अध्यक्ष हैं. वह आलोक वर्मा का स्थान लेंगे, जिन्हें 10 जनवरी को इस पद से हटा दिया गया था. बताया जा रहा है कि चार्ज संभालने के बाद शुक्‍ला का कार्यकाल दो साल का होगा. इससे पहले सीबीआई प्रमुख की न‍ियुक्‍ति‍ को लेकर हुई बैठकों में कोई नतीजा नहीं न‍िकल सका था. पिछले कुछ दिनों से सीबीआई विवादों से घिरी थी.


CBI निदेशक पद से हटाए गए आलोक वर्मा ने दिया इस्तीफा, DG फायर सर्विस का प्रभार लेने से इनकार

बता दें कि केन्द्रीय सतर्कता आयोग (CVC) द्वारा उसकी जांच रिपोर्ट में भ्रष्टाचार और कर्तव्य निर्वहन में लापरवाही के आरोपों के कारण आलोक वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से हटना पड़ा. जांच एजेंसी के 50 साल से अधिक के इतिहास में यह अपनी तरीके का पहला मामला है. सीवीसी की जांच रिपोर्ट में खुफिया एजेंसी ‘रॉ’ (RAW) द्वारा की गई ‘टेलीफोन निगरानी’ का हवाला दिया गया. अधिकारियों के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीत उच्चशक्ति प्राप्त समिति ने सीवीसी रिपोर्ट पर विचार किया. इस रिपोर्ट में 1979 बैच के आईपीएस अधिकारी वर्मा पर आठ आरोप लगाए गए. वर्मा को उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को बहाल किया था.