नई दिल्ली: देश में फिलहाल सरकार क्लोन ट्रेन चलाने की सोच रही है. सरकार का मानना है कि इस प्रक्रिया के बाद जो लोग लंबी वेटिंग टिकट के कारण यात्रा नहीं कर पा रहें उनकों अब सीट उपलब्ध हो पाएगी और वो आराम से सीट पर बैठकर यात्रा कर सकेंगे. इस बाबत रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा कि 12 सितंबर से 80 नई स्पेशल ट्रेनों को चलाया जाएगा. साथ ही क्लोन ट्रेनों का भी इस दौरान संचालन शुरू किया जाएगा. उन्होंने कहा कि रेलवे विभाग वर्तमान में चलाई जा रही ट्रेनों की निगरानी करेगा और साथ ही यह भी पता लगाएगा कि किन ट्रेनों में सबसे ज्यादा वेटिंग की समस्या है. Also Read - PNR STATUS IRCTC Special Train: अनलॉक 4.0 में स्पेशल ट्रेन में टिकट किया है बुक तो अपने व्हाट्सएप से ऐसे चेक करें पीएनआर स्टेटस

इस बाबत जानकारी जुटाने के बाद जहां भी स्पेशल ट्रेनों की आवश्यकता होगी उसे चलाया जाएगा ताकि वेटिंग लिस्ट की समस्या से लोगों को निजात दिलाया जा सके. जिस ट्रेन में वेटिंग की समस्या होगी उस ट्रेन के ठीक पीछे एक क्लोन ट्रेन चलाई जाएंगी. जिसमें वेटिंग वाले यात्री सवार होकर अपने गंतव्य तक पहुंच सकेंगे. Also Read - Bihar Special Train List/ Indian Railway: बिहार के लिए आज से शुरू होंगी 20 से ज्यादा नई स्पेशल ट्रेन, जानें आने-जानें की टाइमिंग

क्या है क्लोन ट्रेन? Also Read - Indian Railways/IRCTC : आज से पटरी पर दौड़ेंगी 40 स्पेशल क्लोन ट्रेनें, रूट्स, स्टॉपेज और टाइमिंग- यहां जानें सबकुछ....

कई बार कुछ विशेष मार्गों पर विशेष ट्रेनों में काफी भीड़ होती है. जैसे दिल्ली-मुंबई, दिल्ली-पटना, दिल्ली-हावड़ा. ऐसे में इन मार्गों पर सीमित ट्रेनों के होने के कारण हमें कंफर्म टिकट की सुविधा नहीं मिल पाती है. इसलिए अगर कोई व्यक्ति किसी भी ट्रेन में टिकट बुक करता है और उसकी टिकट वेटिंग में हैं और रेलवे विभाग को यह लगता है कि किसी ट्रेन में वेटिंग की समस्या बहुत ज्यादा है, तो विभाग उसी स्टेशन, प्लैटफॉर्म से एक पहले वाली ट्रेन की तरह ही सेम नंबर की दूसरी ट्रेन चलाएगी जिसे क्लोन ट्रेन का नाम दिया गया है.

इस क्लोन ट्रेन का फायदा वो लोग उठा सकेंगे जिनकों अपने गंतव्य तक के लिए वेटिंग टिकट मिला था. इस सुविधा के आने के बाद से वेटिंग की समस्या खत्म हो जाएगी. लेकिन हां कुछ घंटों की देरी आपको हो सकती है. क्योंकि एक ही स्टेशन से ट्रेन चलेंगी तो वह आगे पीछे ही चलाई जाएंगी. इस कारण कुछ घंटों का फर्क पहले वाले और क्लोन ट्रेन के बीच जरूर होगा. बता दें कि क्लोन ट्रेन को कुछ कास व्यस्तम मार्गों पर ही चलाया जाएगा.