IRCTC Indian Railway Ticket Booking Rules: देश में 1 जून से रेलवे द्वारा 200 ट्रेने अप और डाउन चलाई जाएंगी. ऐसे में टिकट बुकिंग की प्रक्रिया आज से ही शुरू कर दी गई है. 10 बजे से टिकट बुकिंग की प्रक्रिया को शुरू किया गया. इस बीच कई लोग अपनी टिकट बुकिंग कराने में लगे हुए कई लोग थोड़े इंतजार के बाद टिकट बुकिंग कराने वाले हैं. इन सबके बीच एक अहम बात है जो लगभग हर उस इंसान को पता होनी चाहिए जो रेलवे की टिकट की बुकिंग करा रहा है या कराने की सोच रहा है. वह यह कि उसे रेलवे से जुड़े नए नियमों के बारे में मालूम होना चाहिए. उसे पता होना चाहिए कि रेलवे यात्रा, उससे पहले व रेलवे में क्या करना है, क्या नहीं. इस तरह की सभी बातों के बारे में आपको पता होना बहुत जरूरी है, नहीं तो आप परेशान भी हो सकते हैं. आज हम आपको रेलवे से जुड़ी इन्हीं 10 नियमों के बारे में बताने वाले हैं. Also Read - पूर्वी लद्दाख गतिरोध: भारत-चीन सेना के बीच लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत हुई, जानिए क्या निकला नतीजा

ये है बुकिंग के नियम (Ticket Booking For Special Trains Online) Also Read - WHO Unbelievable Statement: भारत में कोरोनावायरस के तेजी से बढ़ते मामलों पर WHO ने कही ये बड़ी बात, आप भी रह जाएंगे हैरान

1- स्टेशन पर यात्रियों को 90 मिनट पहले बुलाया गया है ताकि उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की जा सके. इस दौरान बीमार लोगों को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी चाहे आपका टिकट कंफर्म ही क्यों न हो. पूरी यात्रा के दौरान लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य है. Also Read - भारत-चीन गतिरोध के बीच शीर्ष सैन्य अधिकारियों के बीच आज होगी बातचीत, जानें क्या होगा एजेंडा

2- एडवांस आरक्षण की अवधि अधिकतम 30 दिन की होगी. एडवांस आरक्षण का तात्पर्य यहां अग्रिम आरक्षण अवधि से है. आप 30 दिन के पहले या भीतर अपने टिकटों की बुकिंग करा सकते हैं. इससे पहले करवाने पर शायद आपका टिकट रेलवे द्वारा रद्द कर दिया जाए या फिर आपको टिकट ही उपलब्ध न कराया जाए.

3- 200 ट्रेनों में बुकिंग सिर्फ IRCTC की अधिकारिक वेबसाइट से ही की जा सकेगी. इसके लिए किसी प्रकार के विंडो टिकट काउंटर की व्यवस्था नहीं की गई है. साथ ही आप इसे एजेंटों की सहायता से भी बुकिंग न कराएं.

 

4- ट्रेन में यात्रा के दौरान किसी भी यात्री को टिकट कलेक्टर या टीटी द्वारा आरक्षित टिकट यानी यूटीएस नहीं दिया जा सकता. इस दौरान यह अधिकार टीसी को भी नहीं होगा.

5- अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचने के बाद राज्यों व केंद्र शासित राज्यों द्वारा बनाए गए नियमों का पूर्ण रूप से लोगों को पालन करना होगा साथ ही यात्रा के दौरान व स्टेशन पर हर समय फेसमास्क पहनना अनिवार्य होगा.

6- अबतक ट्रेन में आरक्षितों सीटों के दूसरे चार्ट को 30 मिनट पहले तैयार किया जाता था लेकिन अब इसे दो घंटे पहले ही तैयार कर लिया जाएगा. पहला चार्ट पहले की ही तरह 4 घंटे पहले तैयार कर लिया जाएगा. इन दोनों चार्टों के बीच सिर्फ ऑनलाइन टिकट बुकिंग की अनुमति होगा.

7- मेडिकल जांच सभी यात्रियों की अनिवार्य है. साथ ही अगर आप पूरी तरह स्वस्थ हैं तभी आपको ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी. वहीं अगर आप में कोरोना के लक्ष्ण है या फिर आपको सर्दी जुखाम भी है तो आपको यात्रा करने से रोका जा सकता है.

8- रेलवे आरक्षण टिकट अगर कंफर्म है तभी आप ट्रेन पकड़ने के लिए रेलवे स्टेशनों में प्रवेश पा सकते हैं. जिनका टिकट कंफर्म नहीं है वे रेलवे स्टेशनों पर नहीं जा पाएंगे.

9- इन ट्रेनों में प्रीमियम तत्काल और तत्काल जैसी बुकिंग सुविधाएं नहीं दी जाएगी.

10- बता दें कि RAC और वेटिंग टिकटें भी दी जाएंगी लेकिन अगर टिकट यात्रा के समय तक वेटिंग रहता है तो आपको यात्रा की अनुमित नहीं दी जाएगी. एसी प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी की बात करें तो इनमें क्रमश: 20, 50 और 100 वेटिंग टिकटों का वितरण किया जाएगा. वहीं स्लीपर डिब्बों में मात्र 200 वेटिंग टिकटों की ही बुकिंग दी जाएगी.