IRCTC/Indian railway: कोरोना वायरस के मद्देनजर पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया है. जल्द ही Lockdown 4.0 लागू कर दिया जाएगा. हालांकि इस बीच 15 रूटों के लिए रेलवे सेवाओं को शुरू कर दी गई है. बावजूद इसके रेलवे सेवाओं पूरी तरह से ठप्प पड़ी हुई हैं. रेलवे की घोषणाओं की मानें तो 15 रूटों पर चलने वाली ट्रेनें सिर्फ राज्यों की राजधानी तक ही जाएंगी. बता दें कि 22 मार्च के दिन जनता कर्फ्यू का आगाज किया गया था. इसी दिन रेलवे ने घोषणा की थी कि रेलवे सेवाएं 31 मार्च तक के लिए बंद रहेंगी. लेकिन लॉकडाउन की अवधि बढ़ने के साथ ही यह सेवाएं अब तक ठप्प पड़ी हुई हैं. इसी बीच रेलवे मंत्रालय द्वारा नए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. Also Read - Domestic Flight Guidelines: हवाई यात्रा के ये हैं नए नियम, इनका पालन करना सभी के लिए है अनिवार्य

बता दें कि रेलवे की तरफ से 30 जून तक की सभी आरक्षित टिकटों को रद्द कर दिया गया है. संशोधित दिशानिर्देश के अनुसार पहले से बुक टिकटों को रद्द किया जाएगा साथ ही पैसे को रिफंड भी किया जाएगा. यह 21 मार्च 2020 से लागू होगा. साथ ही उन व्यक्तियों को रेलवे द्वारा पूरा रिफंड दिया जाएगा जिन्हें कोरोना वायरस के लक्ष्णों के कारण यात्रा करने से रोक दिया गया था. Also Read - Domestic Flight Guidelines: हवाई यात्रा से पहले क्या करें क्या न करें, इन नियमों को जानकर यात्रा करना आपके लिए होगा फायदेमंद

बता दें कि रेलवे जल्द ही वेटिंग लिस्ट (Indian railways Ticket Booking) के प्रावधान को भी पेश करने वाला है. इसके बाद आप बिल्कुल पहले की तरह या यूं कहें कि वेटिंग टिकट लेकर भी रेलवे में सफर कर सकेंगे. यह प्रक्रिया 22 मई से शुरू होने वाली है. बता दें कि देश की 15 रूटों पर फिलहाल ट्रेनों को चलाया जा रहा है. रेलवे की तरफ से उन सभी टिकटों को रद्द कर दिया है जिसमें 30 जून 2020 या उससे पहले की तारीखों पर लोग यात्रा करने वाले थे. इन सभी रद्द किए गए टिकटों का रिफंड भी दिया जाएगा

इन ट्रेनों के लिए ऑनलाइन टिकट IRCTC की वेबसाइट से ही लिया जा सकता है. IRCTC की वेबसाइट की बात करें तो ट्रेनों की बुकिंग कई दिनों के लिए पहले से ही की जा चुकी है. जिस दिन रेलवे द्वारा बुकिंग करने की अनुमति दी गई थी. उस दिन शाम के वक्त मात्र 10 मिनट में सभी टिकटों को बुक कर लिया गया था.