Irrfan khan Death: बॉलीवुड एक्टर इरफान खान की कैंसर की वजह से मौत हो गई है. वे लंबे समय से बीमार थे और लंदन में इलाज कराकर वापस भी लौटे थे.Also Read - इरफान खान का ये सपना रह गया अधूरा, बेटे Ayan की फोटो शेयर कर पत्नी सुतापा ने किया खुलासा

इरफान खान ने अपनी बीमारी के बारे में खुद ही ट्वीट कर जानकारी दी थी. अपनी बीमारी पता चलने के बाद उन्होंने एक भावुक नोट भी लिखा था. Also Read - इरफान खान पुण्यतिथि: दूधवाले की बेटी से मोहब्बत कर बैठे थे इरफान खान, चाणक्य बनकर शुरू किया था सफर

इरफान ने लिखा था, ‘कुछ महीने पहले मुझे पता चला कि मैं न्यूरोएन्डोक्राइन कैंसर से पीड़ित हूं. यह शब्द मैंने पहली बार सुना था. जब मैंने इसके बारे में सर्च की तो पाया कि इस पर ज्यादा शोध नहीं हुए हैं. इसके बारे में ज्यादा जानकारी भी मौजूद नहीं थी. यह एक दुर्लभ शारीरिक अवस्था का नाम है और इस वजह से इसके उपचार की अनिश्चितता ज्यादा है. अभी तक मैं तेज रफ्तार वाली ट्रेन में सफर कर रहा था’. Also Read - इरफान खान जन्मतिथि: टीवी के चाणक्य बनकर Irrfan Khan ने शुरू किया था एक्टिंग का सफर, हॉलीवुड तक बनाई पहचान

उन्होंने कहा था, ‘ मेरे कुछ सपने थे, कुछ योजनाएं थीं, कुछ इच्छाएं थीं, लक्ष्य था. लेकिन अचानक ही किसी ने मुझे हिलाकर रख दिया मैंने पीछे देखा तो वो टीसी था. उसने कहा, आपको स्टेशन आ गया है कृपया नीचे उतर जाइए. मैं कन्फ्यूज हो गया. मैंने कहा नहीं अभी मेरी मंजिल नहीं आई है. उसने कहा- नहीं आपको अगले किसी भी स्टॉप पर उतरना होगा’.

डॉक्टर्स के अनुसार, इरफान को जो कैंसर था वो पेट या फेफड़ों में होता है. एंडोक्राइन कैंसर एक प्रकार क ट्यूमर है, जो शरीर के किसी भी भाग में हो सकता है. यह ट्यूमर हॉर्मोन बढ़ाने वाले सेल्स के साथ शरीर में फैलता है. सेल्स बढ़ने के साथ ही एंडोक्राइन ट्यूमर कैंसर भी शरीर में तेजी से फैलता है.

ज्‍यादातर न्‍यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर्स कई सालों में डेवलेप होते हैं. ज्‍यादातर लोगों को कई सालों तक इसके लक्षण तक नजर नहीं आ पाते. ज्‍यादातर मामलों में ऐसा होता है कि इस ट्यूमर का पता चलने तक ये शरीर के दूसरे भागों में फैल जाते हैं.

फिर वो लंदन इलाज कराने गए. तब ये खबरें आती रहीं कि इरफान ठीक हो रहे हैं, दवाइयों का असर हो रहा है. वह अपनी जिंदगी के रोजमर्रा के काम कर रहे हैं. वह बाहर निकलते हैं, घूमते हैं. इरफान ने कई फोटोज भी शेयर किए.

पर जब वे लंदन से वापस लौटे तो उन्हें पता था कि उनके पास अब ज्यादा समय नही है. पिछले एक हफ्ते से वे काफी बीमार थे. जिसके बाद मंगलवार रात उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बुधवार सुबह उन्होंने कोकिलाबेन अस्पताल में अंतिम सांस ली.