नई दिल्ली. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने बुधवार को दिल्ली और यूपी में 16 जगह छापेमारी की. इस दौरान आतंकवादी संगठन आईएसआईएस (ISIS) के नए मॉड्यूल ‘हरकत उल हर्ब-ए-इस्लाम’ का खुलासा हुआ है. पुलिस को दिल्ली के जाफराबाद इलाके से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद हुआ है, जबकि 10 लोगों को गिरफ्तार किया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस नए मॉड्यूल के निशान पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) का दफ्तर और दिल्ली पुलिस का हेडक्वार्टर था.

एनआईए की टीम की छापेमारी में खुलासा हुआ है कि ये आतंकी संगठन का ये मॉड्यूल आरएसएस कार्यलाय और दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर को निशाना बनाना चाहते थे. बताया जा रहा है कि इस मामले में विस्तृत जानकारी के लिए पुलिस की टीम शाम 4 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाली है. इसमें कई बड़े खुलासे हो सकते हैं.

एनआईए की टीम करेगी पूछताछ
रिपोर्ट के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए सभी संदिग्धों से एनआईए की एक टीम पूछताछ कर रही है, ताकि ISIS के नए मॉड्यूल के बारे में जानकारी इकट्ठा कर सके. एक अधिकारी ने ज्यादा जानकारी देने से इनकार करते हुए कहा कि विभिन्न जगहों पर तलाशी सुबह शुरू हुई और अभी भी जारी है. ग्रेनेड लॉन्चर, 7 पिस्तौल, जिहादी दस्तावेज बरामद हुए हैं.

गृहमंत्रालय की रिपोर्ट
बता दें कि दिसंबर 2017 में गृहमंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एनआईए ने 103 आरोपियों को आईएसआईएस से किसी न किसी तरह के कनेक्शन के आरोप में गिरफ्तार किया. इसमें सबसे ज्यादा जांच उत्तर प्रदेश में हो रही है. रिपोर्ट के मुताबिक, गिरफ्तार 103 लोगों में 17 को उत्तर प्रदेश से ही गिरफ्तार किया गया है. बताया जा रहा है कि इन सभी का आईएसआईएस से कनेक्शन है. रिपोर्ट है कि ये नए मॉड्यूल ‘हरकत उल हर्ब-ऐ-इस्लाम’ के साथ जुड़े हुए हैं, जो आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने का काम करती है.