नई दिल्ली: लुटियंस दिल्ली के इलाके में स्थित इजरायली दूतावास के पास शुक्रवार को धमाका देखने को मिला. इसके बाद सभी एजेंसियां हरकत में आ गईं और मामले की जांच पड़ताल में जुट गईं. राहत की बात ये रही कि इस घटना में केवल कुछ गाड़ियां हीं क्षतिग्रस्त हुईं. राजधानी दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर यह धमाका तब हुआ जब नजदीक ही बीटिंग रिट्रीट का आयोजन हो रहा था.Also Read - UP Election 2022: अमित शाह ने कैराना से शुरू किया प्रचार, पलायन के मुद्दे का ज़िक्र कर BJP के लिए मांगे वोट

बता दें कि इस धमाके की जिम्मेदारी अबतक किसी भी आतंकवादी संगठन द्वारा नहीं ली गई है. हालांकि कई राज्यों को इस घटना के बाद से अलर्ट कर दिया गया है. इस दौरान एंबेसी के पास ही पुलिस को एक लिफाफा मिला है. लिफाफे में क्या है अभी तक इस जानकारी को साझा नहीं किया गया है. हालांकि जांच एजेंसियों को 3 सीसीटीव कैमरों से कुछ सुराग मिले हैं. Also Read - अमित शाह ने 'जिला सुशासन सूचकांक' लॉन्च किया, कहा- जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव जल्द होंगे, राज्य का दर्जा बहाल करेंगे

धमाके की असल वजह क्या थी और किन कारणों से यह धमाका किया गया इसका पता जांच के बाद ही चल पाएगा लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि यह मात्र एक तरह की चेतावनी थी कि हम कहां तक पहुंच सकते हैं. इस घटना के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने अपने बंगाल दौरे को रद्द कर दिया और देर रात उन्होंने बैठक की जिसमें खुफिया विभाग के अधिकारी व अन्य अधिकारी मौजूद थे. Also Read - मुस्लिम महिलाओं के प्रति अश्लील टिप्पणी का केस: Club House पर बिसमिल्लाह नाम से प्रोफाइल बनाए था आरोपी, पकड़ा गया

हालांकि इस मामले की जांच कौन सी एजेंसी करेगी इसका खुलासा अबतक नहीं हुआ है, हालांकि यह तय गृह मंत्रालय करेगा. हालांकि यह आतंकी संगठन का काम लगता है तो हो सकता है NIA को मामले की जांच करने दी जाए.