चेन्नई: इस साल सतीश धवन स्पेस सेंटर, श्रीहरिकोटा से इसरो 14 रॉकेट लॉन्च करने वाला है. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी कि इसरो करीब 32 मिशन पर काम कर रहा है. इसमें चंद्रयान-2 के लिए GSLV Mk III भी शामिल है. Also Read - महाराष्ट्र में लगेगा लॉकडाउन, उद्धव सरकार के मंत्री ने कहा- गाइडलाइन्स पर हो रही है चर्चा

अपने नये साल के संदेश में Isro के अध्यक्ष के सिवान ने कहा कि साल 2019 चुनौतीपूर्ण रहने वाला है. इस साल पहले से योजनाबद्ध 32 मिशन को पूरा करना है. इसमें 14 रॉकेट लॉन्च हैं, 17 सेटेलाइट और एक टेक डेमो मिशन है. Also Read - IPL 2021: MS धोनी और CSK के साथ वापसी करना शानदार लगता है: Suresh Raina

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इसराे GISAT सिरीज के जरिये जीयो-इमेजिंग क्षमता को प्राप्त करना चाहता है, जो RISAT की माइक्रोवेव रिमोट सेंसिंग क्षमता को बहाल करेगा. इसके साथ ही GSLV और इसके वैरिएंट की पेलोड क्षमता में भी सुधार किया जाएगा. Also Read - IPL 2021, Sunrisers Hyderabad vs Kolkata Knight Riders, 3rd Match: 699 दिन बाद क्रिकेट मैदान पर उतरे Harbhajan Singh, तीसरी IPL टीम के लिए डेब्यू

इस साल अंतरिक्ष एजेंसी को देश की डिजिटल इंडिया की उच्च बैंडविड्थ आवश्यकता को पूरा करते हुए भी देखा जाएगा और इसके साथ ही GSAT-20 का लॉन्च के साथ इन-फ्लाइट कनेक्टिविटी भी बढ़ेगी. फसलों की उपज, जल और ऊर्जा सुरक्षा आदि के क्षेत्र में भी इस साल इसरो को काम करना है.