नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक पन्नालाल शाक्या अपने बयान के चलते एक बार फिर से विवाद में फंस गए हैं. मध्य प्रदेश के गुना जिले में एक रैली में शाक्या ने कहा कि बिना संस्कार वाले बच्चों को पैदा करने से अच्छा है कि महिलाएं बिना बच्चों के ही रहें. शाक्या ने कहा कि ऐसे बच्चे जिनमें संस्कार नहीं होते और जो समाज में बदनामी कराते हैं, महिलाओं को ऐसे बच्चों को पैदा ही नहीं करना चाहिए.

कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए शाक्या ने कहा, ”कांग्रेस ने नारा दिया था ‘गरीबी हटाओ’ लेकिन बजाए गरीबी हटाने के कांग्रेस ने गरीबों को ही हटा दिया. ऐसी भी महिलाएं हैं जो ऐसे नेताओं को जन्म देती हैं. महिलाओं को ऐसे असंस्कारी बच्चों को पैदा करने से अच्छा है कि वो बिना संतान के ही रहें.”

खबर के मुताबिक, बीजेपी विधायक ने यह भी कहा कि जब भी हम कोई सकारात्मक खबर सुनते हैं तो हम उस काम को करने वाले व्यक्ति की मां की तुलना कौशल्या से करते हैं जिन्होंने भगवान राम को जन्म दिया था.

यह पहली बार नहीं है जब शाक्या अपने बयान के चलते विवादों में आए हों. इससे पहले भी शाक्या कई बार विवादों में फंस चुके हैं. इससे पहले मार्च में भी शाक्या ने लड़कियों को ‘सलाह’ दी थी कि अगर वो चाहती हैं कि सब कुछ ठीक रहे तो ब्वॉयफ्रेंड न बनाए. शाक्या ने कहा था, ”लड़कियां ब्वॉयफ्रेंड क्यों बनाती हैं? अगर लड़कियां ऐसा नहीं करेंगी तो उनके खिलाफ होने वाले अपराध रुक जाएंगे.”

इसके अलावा शाक्या ने यह भी कहा था लड़कों को भी मॉडर्न कल्चर नहीं अपनाना चाहिए और गर्लफ्रेंड नहीं बनानी चाहिए. शाक्या ने कहा था कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस भी विदेशी कल्चर का हिस्सा है और उसका भारत में कोई स्थान नहीं है. शाक्या ने विराट कोहली और अनुष्का शर्मा की शादी इटली में होने पर कोहली की देशभक्ति पर भी सवाल उठाए थे.