नई दिल्ली। कर्नाटक सरकार के ऊर्जा मंत्री और कांग्रेसी नेता डीके शिवकुमार के ठिकानों पर बुधवार सुबह से छापेमारी जारी है. रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके कर्नाटक और दिल्ली स्थित तमाम ठिकानों से अबतक करीब 10 करोड़ रुपये बरामद किए गए हैं. इसमें से 2.5 करोड़ उस रिसोर्ट से बरामद हुए जिसमें गुजरात कांग्रेस के 43 विधायक ठहरे हुए हैं. छापेमारी अभी भी जारी है. डीके शिवकुमार का कर्नाटक सरकार के सबसे अमीर मंत्रियों में शुमार होता है.Also Read - Winter Session of Parliament Live Updates: चौथे दिन भी हंगामा और नारेबाजी, विपक्षी नेताओं ने राज्सभा से वॉकआउट किया

यह भी पढेंः कांग्रेस को जेटली का जवाबः रिसॉर्ट में कागज फाड़ रहे थे कांग्रेस नेता, अफसर पूछताछ के लिए ले गए Also Read - Mamata Banerjee बोलीं अब कोई UPA नहीं बचा, कांग्रेस ने कहा- सिर्फ अपने बारे में सोचने वाले BJP को ही मजबूत करेंगे

डीके शिवकुमार ने विधानसभा चुनाव के हलफनामे में 250 करोड़ की संपत्ति घोषित की है. उनके भाई डीके सुरेश बेंगलुरु ग्रामीण सीट से सांसद हैं. यह रिसॉर्ट डीके सुरेश की संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत ही आता है. इसी रिसॉर्ट में हॉर्स ट्रंडिंग के डर से कांग्रेस ने गुजरात के 43 विधायकों को ठहराया हुआ है. Also Read - पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा 'काले अंग्रेज', केजरीवाल बोले, 'लेकिन नीयत साफ है'

कर्नाटक में कांग्रेस के मंत्री डीके शिवकुमार के ठिकानों पर रेड पर राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ. कांग्रेस सांसदों ने मंत्री के ठिकाने पर छापेमारी का मामला राज्यसभा में उछाला, जिसपर विपक्षी सदस्यों ने खूब नारेबाजी की. कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने तल्ख अंदाज में कहा कि आप अपनी पार्टी (बीजेपी) के लोगों के घरों पर रेड डलवाइए जो 15 करोड़ का ऑफर दे रहे हैं. अहमद पटेल ने छापेमारी के बारे में कहा कि ये ‘रेड राज’ है.