नई दिल्ली: दिल्‍ली पुलिस की जेएनयू में हुई हिंसा के मामले में शुक्रवार को जांच को लेकर की गई प्रेस कॉन्‍फेंस के ठीक बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने वामपंथी संगठनों पर निशाना साधा है. जावड़ेकर ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में पांच जनवरी को हुई हिंसा की दिल्ली पुलिस द्वारा की जा रही जांच में स्पष्ट हुआ है कि वामपंथी संगठनों से जुड़े छात्र घटना में शामिल थे. Also Read - TMC Full Candidates List 2021: बंगाल चुनाव के लिए TMC ने जारी की 291 उम्मीदवारों की सूची, देखें पूरी LIST

विपक्ष पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि भाकपा, माकपा, आप जैसे दलों को लोकसभा चुनाव में खारिज कर दिया गया और अब वे अपने निहित स्वार्थों के लिए छात्रों का उपयोग कर रहे हैं. Also Read - BJP की केंद्रीय चुनाव समिति की आज होने वाली मीटिंग रद्द, उम्‍मीदवारों की ल‍िस्‍ट का इंतजार

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने जेएनयू हिंसा (JNU Violence) पर कहा, आज की पुलिस कॉन्‍फ्रेंस ने स्थापित किया कि पिछले 5 दिनों से एबीवीपी, बीजेपी और अन्य लोगों को दोष देने के लिए जानबूझकर बनाया गया कोरस, यह सच नहीं था. यह वामपंथी संगठन हैं, जिन्‍होंने पूर्व नियोजित हिंसा के तहसी सीसीटीवी निष्‍क्र‍िय किए और सर्वर में तोड़फोड़ की.

केंद्रीय मंत्री ने विश्वविद्यालय के आंदोलनरत छात्रों से अपना आंदोलन समाप्त कर शैक्षणिक सत्र शुरू होने देने की अपील की. जावड़ेकर ने कहा कि पुलिस सच्चाई को सामने लाई और यह स्पष्ट है कि वामपंथी छात्र संगठन हमले में शामिल थे.