नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्यपाल अब नए वायसराय की तरह व्यवहार करने लगे हैं. बता दें कि चिदंबरम की ये टिप्पणी गवर्नर सत्यपाल मलिक के उस बयान के बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा था कि राजनीतिक दलों को भारत-पाकिस्तान वार्ता के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है. Also Read - Kiran Bedi ने LG की पोस्‍ट से हटाए जाने के दूसरे दिन बाद भारत सरकार को दिया धन्‍यवाद

Also Read - Kiran Bedi को पुडुचेरी के LG पद से हटाया गया, तेलंगाना की गर्वनर को मिला अतिरिक्त प्रभार

CBI Vs CBI live update: आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल गांधी ने गिरफ्तारी दी Also Read - बजट पर बोले पी चिदंबरम, 'वित्त मंत्री ने भारत के लोगों को धोखा दिया, बजट से इतनी निराशा कभी नहीं हुई'

नए वॉयसराय

पूर्व वित्त मंत्री ने कई ट्वीट करते हुए जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के बयान का हवाला दिया. नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी द्वारा कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के लिए कथित तौर पर पाकिस्तान की भूमिका का लगातार हवाला देने को लेकर राज्यपाल ने उनकी आलोचना की थी. उन्होंने तंज कसते हुए लिखा कि भारत के आखिरी वॉयसराय लार्ड माउन्टबेटन नहीं बल्कि नए वॉयसराय को नियुक्त किया गया है.

उन्होंने कहा, ‘‘ जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने कहा कि राजनीतिक पार्टियों को भारत-पाकिस्तान वार्ता के बारे में बात करने का अधिकार नहीं है. शायद वह ‘पार्टी विहीन’ लोकतंत्र के समर्थक हैं या फिर ‘लोकतंत्र हो ही न’ के.’ उन्होंने मजाकिया लहजे में टिप्पणी करते हुए कहा, ‘‘ हमें बताया गया कि अंतिम वायसराय लॉर्ड माउंटबैटन थे. यह गलत है. नियुक्त किए गए राज्यपाल और उप राज्यपाल अब नए वायसराय है.’ (इनपुट एजेंसी)

CBI से इस तरह अलग है IB, ये रहा दोनों एजेंसियों में अंतर