PDP wants J&K should become a bridge of peace. Be it our neighbouring nations like Pakistan or China, who recently tried to enter LAC: पूर्व मुख्‍यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती का एक बार फिर पाकिस्‍तान और चीन के प्रति अपना रवैया दोहराया है. उन्‍होंने जम्‍मू-कश्‍मीर के मुद्दे पर मंगलवार को पाकिस्‍तान और चीन से संबंध स्‍थापित करने को लेकर एक बयान दिया है. यह
बयान उन्‍होंने तब दिया है, जब भारत के दोनों देशों के साथ संबंध काफी तनावपूर्ण दौर से गुजर रहे हैं. Also Read - IND vs AUS 2nd ODI Live Streaming: कब-कहां और कैसे देखें भारत vs ऑस्ट्रेलिया दूसरे वनडे की Online स्ट्रीमिंग और Live Telecast

जम्‍मू-कश्‍मीर की पूर्व सीएम ने कहा कि पीडीपी चाहती है कि जम्मू-कश्मीर शांति का पुल बने. चाहे पाकिस्तान या चीन जैसे हमारे पड़ोसी देश हैं, जिन्होंने हाल ही में LAC में प्रवेश करने की कोशिश की है, मेरा मानना है कि मुफ्ती जी का जम्मू-कश्मीर को भारत और उसके पड़ोसियों के बीच बनाने का सपना है, एक सूत्र है, जिसे सरकार को अपनाना होगा. Also Read - J&K Latest News: महबूबा मुफ्ती बोलीं- दो दिन से अवैध हिरासत में हूं, पुलिस का जवाब- नजरबंद नहीं हैं

इस वीडियो में पीडीपी नेता कह रही है, ”पीडीपी का एजेंडा हमेशा रहा है कि जम्‍मू-कश्‍मीर को झगड़े, बहस नहीं, बल्कि अमन का पुल बनना चाहिए. हमारे हमसाया मुल्‍क चाहे पाकिस्‍तान हो, चाहे दूसरी तरफ हमारे मुल्‍क के साथ जहां, चीन ने एलएसी के ऊपर काफी उन्‍होंने उस पे कर रहे हैं, अंदर आ रहे हैं. तो मैं समझती हूं कि मुफ्ती साहब का ख्‍वाब था कि जम्‍मू-कश्‍मीर को हिंदुस्‍तान को हमसाया मुल्‍कों के साथ एक पुल बनाना होगा. मुझे लगता है कि आखिरकार मकर्जी सरकार को वही फार्मूला अपना होगा.

बता दें कि नेशनल कांफ्रेंस नेता फारुक अब्‍दुल्‍ला भी चीन और पाकिस्‍तान को लेकर एक विवादित बयान दे चुके हैं. राज्‍य की प्रमुख राजनीतिक दल पीडीपी, नेशनल कॉन्‍फ्रेंस समेत कुछ अन्‍य दल गुपकार घोषणा के जरिए फिर से 370 की बहाली की मांग कर रहे हैं.