ब्रसेल्स: विदेश मंत्री एस जयशंकर द्विपक्षीय मुद्दों पर यूरोपीय संघ के नेताओं से वार्ता करने और अगले महीने यहां भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित दौरे की तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए सोमवार को बेल्जियम पहुंचे. Also Read - कोरोना से जंग, प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व पीएम, प्रेसिडेंट सहित सोनिया, ममता, मुलायम व इन नेताओं को किया फोन

म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन के लिए सप्ताहांत में जर्मनी आए जयशंकर ब्रसेल्स पहुंचे और बेल्जियम के अपने समकक्ष फिलिप गोफिन से मुलाकात की. उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘बेल्जियम के विदेश मंत्री फिलिप गोफिन से मिलकर प्रसन्नता हुई. आश्वस्त हूं कि हम अपने द्विपक्षीय, यूरोपीय संघ और वैश्विक भागीदारी को आगे और मजबूत कर सकते हैं.’’ Also Read - पीएम मोदी ने ब्राजील के राष्ट्रपति से की फोन पर बात, कोरोना संकट से निपटने को लेकर हुई चर्चा

जयशंकर का दौरा ऐसे वक्त हो रहा है, जब कुछ दिन पहले ही यूरोपीय संसद में एक संयुक्त प्रस्ताव पर वोटिंग मार्च तक के लिए टाल दी गयी . संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ यूरोप के सांसदों ने पांच प्रस्ताव रखे थे. गोफिन से मुलाकात करने के पहले जयशंकर एंटवेर्प में जैन मंदिर गए और वहां पर प्रार्थना की . उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘एंटवेर्प में जैन मंदिर जाकर यूरोपीय संघ-बेल्जियम की अपनी यात्रा की शुरूआत की है .’’ Also Read - कोरोना वायरस: 8 अप्रैल को राजनीति दलों के नेताओं से वीडियो कांफ्रेंसिंग पर बात करेंगे पीएम मोदी

(इनपुट भाषा)