Jallikattu, मदुरै: तमिलनाडु के मदुरै में शुक्रवार को अवनियापुरम जल्लीकुट्टू के दौरान भड़के बैल ने 18 साल के एक दर्शक को सींग से चीरकर मार डाला. पोंगल के दिन बैल को नियंत्रित करने के इस लोकप्रिय खेल में प्रतिस्पर्धियों और बैल मालिकों समेत करीब 80 लोग घायल हो गए. वहीं, न्‍यूज एनएनआई के मुता‍बिक, एक स्वास्थ्य अधिकारी के अनुसार, तमिलनाडु के मदुरै के अवनियापुरम इलाके में जल्लीकट्टू प्रतियोगिता में कुल 80 घायल हुए और एक किशोर की मौत हो गई, इससे पहले आज घायलों में 38 बैल टैमर, 24 बैल मालिक और 18 दर्शक शामिल हैं.Also Read - Haryana Lockdown Update: हरियाणा में 28 जनवरी तक बढ़ी लॉकडाउन जैसी पाबंदियां, शराब की दुकानों के समय में बदलाव

पुलिस ने बताया कि बैल ने सींग से मदुरै के किशोर बालमुरूगन की छाती चीर दी. उसे राजाजी अस्पताल ले जाया गया जहां उसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. Also Read - Pargat Singh: हॉकी के सर्वश्रेष्ठ डिफेंडर से पंजाब के खेल मंत्री तक का सफर! ऐसा है परगट सिंह का राजनीतिक करियर

Also Read - India Post Bihar GDS Result 2021: भारतीय डाक ने बिहार जीडीएस परीक्षा का परिणाम जारी किया, चेक करें

एक दिवसीय यह पारंपरिक खेल अपराह्न पांच बजकर 10 मिनट पर खत्म हुआ और 24 बैलों को नियंत्रित कर अवनिपुरम का कार्तिक प्रथम स्थान पर आया. कार्तिक ने कहा, काश, मैं सौ का एक चौथाई पार करने के लिए कुछ और बैलों को नियंत्रित कर पाता. कार्तिक ने इस सीजन के विजेता के तौर पर ट्रॉफी ली और कार जीती. पिछले साल कार्तिक ने 16 बैलों को थामा.

मुरूगन ने 19 बैलों को नियंत्रित कर दूसरा पुरस्कार और भरत कुमार ने 11 बैलों को नियंत्रित कर तीसरा पुरस्कार जीता. न केवल मनुष्य बल्कि जानवरों ने भी पुरस्कार जीते. मनप्पराई के देवासगयाम के बैल को सर्वश्रेष्ठ का बैल का खिताब दिया गया, क्योंकि उसे कोई काबू में नहीं कर पाया. यहां अननियापुरम में करीब 641 बैल इस प्रतिस्पर्धा में आये थे.