बाबा रामदेव के उन उत्पादों के खिलाफ फतवा जारी जिसमें गाय का मूत्र मिलाया जाता है। इस फतवा को जारी किया गया है तमिलनाडु में जहाँ पर एक मुस्लिम संगठन ने इस का फैसला किया है और कहा की जिन चीजों में गाय के मूत्र की मिलावट की जाती है उन्हें अब कोई नही खरीदेगा क्योंकि इस गाय के मूत्र को इस्लाम में हराम माना जाता है। इस मुस्लिम संगठन ने यह भी कहा की गाय के मूत्र से बने बाबा राम देव के प्रोडक्ट ऑनलाइन उपलब्ध हैं। Also Read - इस राज्य में बिना परीक्षा दिये ही पास हो गए 9वीं, 10वीं, 11वीं के छात्र, जानें मुख्यमंत्री ने क्या कहा...

Also Read - Tamil Nadu Elections: पीएम मोदी बोले- भारतीय इतिहास के महत्वपूर्ण क्षण में होने जा रहे तमिलनाडु विधानसभा चुनाव

इस फतवा को जारी करने वाले संगठन का नाम थोवीड जमात है जो की अब बाबा रामदेव के इस उत्पाद के खिलाफ इस संगठन ने फतवा जारी कर दिया है। आप को बता दें की बाबा रामदेव के पंतजलि में बनने वाले आयुर्वेदिक दवाओं में अधिकांश में गाय के मूत्र का मिश्रण किया जाता है जिसकें कारण इसके खिलाफ अब फतवा जारी कर दिया गया है और फतवा जारी करने के बाद इनका कहना है की इन दवाओं के बारें में अधिकांश मुस्लिमों को नही पता उन्हें जागरूक करने के लिए किया गया है। Also Read - Retirement Age Increased: इस राज्य में बढ़ी सरकारी कर्मचारियों के रिटायरमेंट की उम्र, 59 की जगह अब...

फ़िलहाल इस पुरे मामलें पर अभी तक बाबा रामदेव की तरफ या उनके पंतजलि की तरफ से किसी ने कुछ नही कहा है लेकिन इनकी आयुर्वेदिक दवाओं का भारी मात्रा में लोग उपयोग करते हैं और इस तरह से अगर गाय मूत्र को लेकर फिर से कोई विरोध हुआ तो कह सकतें है की आने वाले समय में बाबा रामदेव को और भी मुसीबतें झेलनी पड़ सकती हैं। गौरतलब हो अभी बाबा ररामदेव की उत्पादनों में से एक आटा नुडल्स भी कुछ दिनों पहले विवादों में था। यह भी पढ़ें: बसपा नेता का विवादित बयान, राम मंदिर की शिलापूजन करने वाले देशी आतंकवादी