नई दिल्ली: शुरूआती बवाल के बंद की गई जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Millia University) आज खोली गई. यूनिवर्सिटी के खुलने के बाद छात्रों ने एक बार प्रदर्शन शुरू कर दिए हैं. जामिया के छात्रों ने आज यूनिवर्सिटी प्रशासन के खिलाफ ही प्रदर्शन और नारेबाजी शुरू कर दी. छात्र एकत्रित होकर इस बात की मांग करने लगे कि आखिर क्यों वीसी नजमा अख्तर ने पुलिस के कैंपस में घुसकर मारपीट करने की घटना पर एफआईआर दर्ज क्यों नहीं कराई गई. आश्वासन के बाद भी छात्रों ने यहां तक कह दिया है कि उन्हें वीसी पर भरोसा नहीं है. दिल्ली पुलिस द्वारा छात्रों के साथ मारपीट करने की घटना को एक माह हो रहा है, आखिर तब से अब तक क्यों कार्रवाई नहीं की गई. Also Read - Delhi Police के असिस्‍टेंट सब-इंस्‍पेक्‍टर ने PCR वाहन में खुद के सीने में गोली मारी, हुई मौत

जामिया मिलिया, AMU छात्रों के समर्थन में आए अमेरिका के 21 विश्वविद्यालय, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी भी साथ Also Read - SSC Delhi Police CAPF SI, ASI Result 2020: SSC आज जारी कर सकता है Delhi Police SI, ASI  2020 का रिजल्ट, इस Direct Link से कर सकते हैं डाउनलोड 

प्रदर्शन के बीच जामिया की वीसी नजमा अख्तर (VC Najma Akhtar) छात्रों से मिलने और उनकी दिक्कतों के जवाब देने पहुँच गईं. इस दौरान छात्रों ने मुखर तरीके से वीसी से सवाल किए कि हॉस्टल और लाइब्रेरी में घुसकर छात्र-छात्राओं को पीटनी वाली पुलिस पर कार्रवाई क्यों नहीं कराई गई. छात्रों ने मांग की कि यूनिवर्सिटी ने आखिर क्यों पुलिस के खिलाफ ज़रूरी कार्रवाई नहीं करवाई. इस पर वीसी नजमा अख्तर ने कहा कि काफी कुछ हमारे हाथ में नहीं है. हम गवर्नमेंट इम्प्लॉई हैं. Also Read - कम की गई केजरीवाल की सुरक्षा, हटाए गए दिल्ली पुलिस के कमांडो? जानिए क्या बोला गृह मंत्रालय

वीसी के इतना कहते ही हंगामा करना शुरू कर दिया. इस पर वीसी को कहना पड़ा कि वह पुलिस के खिलाफ कोर्ट के जरिए एफआईआर कराएंगी. वीसी ने कहा कि यूनिवर्सिटी में पुलिस को घुसने की इजाज़त नहीं थी, इसके खिलाफ वह पहले भी बोल चुकी हैं. पुलिस ने तब जितने भी छात्रों को हिरासत में लिया था, उन्हें छुड़वाया गया था. इसके बाद भी कई और मांगों को लेकर वीसी को छात्रों के गतिरोध का सामना करना पड़ा. जामिया में छात्र अभी भी प्रदर्शन कर रहे हैं.

कुछ ऐसे हुए सवाल और जवाब

जामिया वीसी: हम एफआईआर कराएंगे. अगर आप लोग सुनना चाहते है तो चुप हो जाएं. हमने जो किया वो आप सबको पता है. पहले जो कर सकते थे हमने वह किया है, लेकिन हम सरकारी कर्मचारी है. इसके बावजूद भी हमने ऑबजेक्शन भेजा है.

जामिया वीसी: दिल्ली पुलिस हमारे कैंपस में बिना पूछे आई थी और छात्रों को पीटा था. हम ये बर्दाशस्त नहीं करेंगे.

छात्रों का सवाल: दिल्ली पुलिस के खिलाफ FIR कब होगा?

वीसी का जवाब: मैने कह दिया तो कह दिया, FIR होकर रहेगा.

छात्रों ने पूछा: CAA, NRC पर आपका क्या स्टैंड है?

इसके तुरंत बाद छात्रों का सवाल: दिल्ली पुलिस FIR कब होगा और हमारी सिक्योरिटी के लिए क्या किया?

जामिया वीसी का जवाब: हम सारे कदम उठा रहे हैं. कल से FIR की कार्रवाई शुरू हो जाएगी. हर स्टेप होगा. मैं आप लोगों को छोड़कर कहीं नहीं जा रही हूं.