नई दिल्ली: जामिया मिलिया इस्लामिया की कुलपति ने शुक्रवार को छात्रों से अफवाहों से दूर रहने व भ्रमित करने वाली खबरों के खिलाफ एकजुट रहने का अनुरोध किया है. छात्रों को लिखे अपने पत्र में, कुलपति नजमा अख्तर ने छात्रों को आश्वासन दिया कि विश्वविद्यालय उनके साथ है और उनकी मांगों पर भी गौर किया जा रहा है.

उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस के प्रवेश को अनधिकृत और दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया. कुलपति द्वारा लिखे पत्र में कहा गया है, “पुलिस और मंत्रालय के पास इस संबंध में शिकायतें दर्ज की गई हैं. सभी को आश्वासन दिया जाता है कि उन्हें न्याय मिलेगा.”

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ छात्रों के विरोध प्रदर्शन से जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय पिछले सप्ताह से चर्चा में है. हिंसक प्रदर्शन के बीच रविवार को पुलिस विश्वविद्यालय परिसर में घुसी और कथित तौर पर छात्रों के साथ मारपीट की थी.