नई दिल्ली: जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में शनिवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकवादी ढेर हो गए और एक जवान शहीद हो गया जबकि क्षेत्र में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच हुए संघर्ष में छह नागरिक मारे गए. पुलिस ने यह जानकारी दी. खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों द्वारा सिरनू गांव में तलाशी अभियान शुरू करने के बाद मुठभेड़ शुरू हो गई. पुलिस ने बताया कि मारे गए आतंकवादियों की पहचान का पता लगाया जा रहा है. मुठभेड़ स्थल पर सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुए संघर्ष में गोलीबारी से घायल हुए दो युवाओं की पहचान आमिर अहमद और आबिद हुसैन के रूप में हुई है.

अस्पताल में पहंचते ही उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. डॉक्टरों ने बताया कि चार अन्य प्रदर्शनकारियों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. प्रशासन ने पुलवामा में मोबाइल सेवाएं निलंबित कर दी हैं और जम्मू क्षेत्र में कश्मीर घाटी और बनिहाल शहर के बीच रेल सेवाएं रोक दी हैं.

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों के साथ हुए संघर्ष में मारे गए दो नागरिकों में से एक की पत्नी इंडोनेशियाई है और उसकी तीन महीने की संतान है. करीमाबाद गांव के अबिद हुसैन ने इंडोनेशिया से एमबीए पूरा किया और वह पिछले साल अपनी पत्नी के साथ घर लौटा था. इलाके में सुबह आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ के बाद सिरनू गांव में हुए संघर्ष में हुसैन के साथ एक अन्य युवक भी मारा गया था जिसकी पहचान आमिर अहमद के रूप में हुई है.

शुक्रवार को पुलवामा में सुरक्षा बलों ने आईईडी बम बनाने की सामग्री के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था. इस शख्स की पहचान मायोर अहमद खान के रूप में हुई थी. इस शख्स को पुलवामा के तुमलाहाल इलाके से गिरफ्तार किया गया था. पुलिस को उसके पास से आईईडी बनाने में इस्तेमाल होने वाले तार, बारूद और दूसरी सामग्री बरामद हुई थी.

वहीं गुरुवार को जम्मू कश्मीर में बारामूला जिले के सोपोर क्षेत्र में सुरक्षाबलों के साथ रातभर चली मुठभेड़ में लश्कर ए तैयबा के दो आतंकवादी मारे गए थे. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया था कि सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर बुधवार की शाम सोपोर के ब्राथ कलां क्षेत्र में घेराबंदी की और तलाश अभियान शुरू किया. उन्होंने बताया कि इस दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी और अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया.

अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में लश्कर ए तैयबा के दो आतंकवादी मारे गए जिनकी पहचान ओवैस अहमद भट उर्फ अबू बकर तथा तारिक अहमद डार उर्फ अबू अब्दुल्ला के रूप में हुई. उन्होंने कहा, ‘दोनों आतंकवादी सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमलों तथा आम लोगों पर जुल्म करने सहित विभिन्न आतंकी अपराधों में संलिप्तता के चलते वांछित थे.’’ अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से राइफलों सहित बड़ी मात्रा में गोला-बारूद बरामद हुआ था.

(इनपुट-एजेंसियां)