नई दिल्ली: पिछले करीब तीन साल में जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच 400 मुठभेड़ हुई. इन मुठभेड़ों में 85 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए, जबकि 630 आतंकियों को मार गिराया गया. गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने एक सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मई, 2018 से जून, 2021 तक जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच 400 मुठभेड़ होने की सूचना है. इन मुठभेड़ों में 85 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए वहीं 630 आतंकवादी मारे गए.Also Read - Bandipora Encounter: सुरक्षाबलों ने BJP नेता वसीम बारी के हत्यारे सहित दो आतंकियों को मार गिराया, जारी है मुठभेड़

नित्यानंद राय ने कहा कि सरकार ने आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस (कतई बर्दाश्त नहीं करने) की नीति अपनाई है और आतंकवादी संगठनों द्वारा दी जाने वाली चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए सुरक्षा तंत्र के सुदृढ़ीकरण, राष्‍ट्र-विरोधी तत्‍वों के विरूद्ध कानून को सख्‍ती से लागू करने, घेराबंदी एवं तलाशी अभियानों में वृद्धि जैसे विभिन्‍न उपाय किए हैं. Also Read - Indian Army Recruitment 2021: भारतीय सेना में बिना परीक्षा अधिकारी बनने का गोल्डन चांस, बस होनी चाहिए ये योग्यता, लाखों में मिलेगी सैलरी

उन्होंने कहा कि सुरक्षा बल आतंकवादियों को सहायता देने का प्रयास करने वाले लोगों पर भी कड़ी नजर रखते हैं और उनके खिलाफ कार्रवाई करते हैं. उन्होंने कहा कि जम्‍मू कश्‍मीर सीमा-पार से प्रायोजित और समर्थित आतंकवादी हिंसा से प्रभावित रहा है. Also Read - J&K: उरी में LoC के पास घुसपैठ की कोशिश नाकाम, सेना ने तीन आतंकियों को मार गिराया; हथियारों का जखीरा बरामद