जम्मू कश्मीर। श्रीनगर के लाल चौक में तिरंगा फहराने गए एक शख्स को स्थानीय लोगों ने ऐसा करने से रोक दिया और कथित रूप से उसकी पिटाई भी की. 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले ये शख्स लाल चौक पर तिरंगा फहराना चाहते थे, लेकिन उसे रोक दिया गया. उसे स्थानीय लोगों से सीआरपीएफ और पुलिस ने बचाया.

स्थानीय लोग भड़के

दरअसल, स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले कुछ लोग लाल चौक स्थित क्लॉक टावर पर तिरंगा फहराने पहुंच गए. ऐसा करते देख स्थानीय लोग यहां जमा हो गए और इसका विरोध करने लगे. इस पर दोनों पक्षों में विवाद हो गया और नौबत मारपीट तक पहुंच गई. पुलिस और सीआरपीएफ के हस्तक्षेप से मामला शांत हो सका. पुलिस इन लोगों को यहां से ले गई.

बताया जा रहा है कि जो लोग तिरंगा फहराने लाल चौक पहुंचे थे, वे स्थानीय नहीं हैं. इनके तिरंगा फहराने की कोशिशों से आसपास के लोग नाराज हो गए और विरोध करने लगे. धीरे-धीरे और लोग भी यहां जमा होने लगे. मामला बिगड़ता देख पुलिस और सीआरपीएफ को दखल देना पड़ा.

15 अगस्त पर अलर्ट

ये पहला मौका नहीं है जब लाल चौक पर तिरंगा फहराने की कोशिश हुई हो. कई मौकों पर बड़े नेताओं ने भी इसे अंजाम दिया है. आज की घटना के बाद यहां सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई है. 15 अगस्त के मद्देनजर पहले ही यहां काफी सतर्कता बरती जा रही है.