नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में रविवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी ढेर हो गए. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मारे गए आतंकवादियों की पहचान की जा रही है. उन्होंने बताया कि दक्षिण कश्मीर के लारलू इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद इलाके की घेराबंदी की गई और खोज अभियान चलाया.अधिकारी ने बताया कि जब सुरक्षाबल तलाशी अभियान में लगे थे तब आतंकवादियों ने उन पर गोलियां चलानी शुरू कर दी जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई.

सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय राइफल्स को शनिवार-रविवार देर रात कुलगाम जिले के लारनू इलाके में 2-3 आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली थी. रविवार सुबह सेना की राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी और केंद्रीय रिजर्व पुलिस के जवानों ने तलाशी अभियान शुरू किया. इस बीच यहां एक मकान में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी कर भागने का प्रयास किया, जिसके जवाब में सुरक्षाबलों ने भी फायरिंग कर आतंकियों के खिलाफ काउंटर ऑपरेशन शुरू किया.

इस ऑपरेशन के दौरान मकान में छिपे ती आतंकियों को मार गिराया गया. मीडिया से बात करते हुए राज्य के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि इस ऑपरेशन में तीन आतंकियों के मारे जाने के बाद मुठभेड़ को खत्म कर दिया गया है. गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में स्थित सेना के एक शिविर पर शुक्रवार को आतंकवादियों ने हमला कर दिया था. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया था कि आतंकवादियों ने यूबीजीएल ग्रेनेड शिविर पर दागे. उन्होंने बताया कि पुलवामा के शादीमार्ग इलाके में स्थित सेना के कैंप पर पहले यूबीजीएल से हमला किया गया फिर गोलीबारी की गई.

जम्मू कश्मीर के बारामूला जिले में शुक्रवार को ही सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गये थे. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कार में यात्रा कर रहे आतंकवादियों को करालहार में रूकने के लिए कहा गया लेकिन उन्होंने सुरक्षा बलों पर गोली चला दी. जवाबी कार्रवाई में दोनों मारे गये. अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल से कुछ हथियार और गोला-बारूद बरामद किए गए हैं. उन्होंने बताया कि मामले में ब्यौरे की प्रतीक्षा है.