Jammu and kashmir Encounter: जम्मू-कश्मीर में कई घंटों से मुठभेड़ जारी थी. यहां सेना मोस्ट वांटेड उग्रवादी और हिजबुल प्रमुख रियाज नाइकू को पकड़ने की कोशिश में थी. पर अब खबरें आ रही हैं कि वो मारा गया है. Also Read - J&k: कश्मीर के कुलगाम में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, दो आतंकी हुए ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी

कौन है रियाज नाइकू
रियाज नाइकू जम्मू और कश्मीर के पुलवामा जिले के बेगपोरा का रहने वाला था. हिजबुल मुजाहिदीन का शीर्ष कमांडर. वो अपने पैतृक गांव लौटा था, जहां सेना ने उसे घेरा. Also Read - अदा शर्मा ने पोछे को हवा में लहराकर किए दमदार एक्शन, देखकर आप भी हो जाएंगे कायल

8 जुलाई 2016 को अनंतनाग जिले के कोकरनाग इलाके में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में पोस्टर बॉय और कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद रियाज नाइकू ने हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर के रूप में कमान संभाली थी. Also Read - कोरोना से बोर हुए कार्तिक आर्यन ने शेयर की Cool सेल्फी बोले- बहुत मन कर रहा है....

नाइकू के सिर पर 12 लाख रुपये का इनाम था.

आतंकवादी रैंक में शामिल होने से पहले नाइकू ने एक स्थानीय स्कूल में गणित शिक्षक के रूप में काम किया था. 33 साल की उम्र में बंदूक उठाने से पहले उसे गुलाबों की पेंटिंग करने के शौक के लिए जाना जाता था.

सुरक्षा बलों द्वारा रात भर चले इस ऑपरेशन की की शुरूआत मंगलवार की शाम को की गई थी, जिसके तहत नाइकू के पैतृक गांव में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया गया था.

खबरें ये भी आ रही हैं कि जैश-ए मोहम्म्द का एक आतंकवादी त्राल क्षेत्र के सतुरा गांव में मार गिराया गया है. पुलिस और सुरक्षाबलों ने मिलकर इस अभियान को अंजाम दिया है.

मोबाइल-इंटरनेट बंद
बुधवार को कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गईं. अधिकारियों ने बताया कि एहतियाती कदम के तौर पर मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित की गई हैं.

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में बेगपुरा इलाके में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ के बाद ये फैसला लिया गया.