श्रीनगर से करीब 85 किलोमीटर दूर हंदवारा शहर में प्रदर्शन कर रही पथराव करने वाली भीड़ को तितर-बितर करने लिए सेना द्वारा की गई गोलीबारी में मंगलवार को दो युवकों की मौत हो गई जिसमें एक उदीयमान क्रिकेटर शामिल था। ज्ञात हो कि सैन्य कर्मी द्वारा एक लड़की के साथ कथित छेड़छाड़ की खबर के बाद इलाके में भड़की हिंसा को काबू करने के लिए जवानों को फायरिंग करनी पड़ी। इस बवाल में 22 लोग घायल हो गए।Also Read - महबूबा मुफ्ती ने सैयद सलाहुद्दीन के दो बेटों समेत 11 सरकारी कर्मचारियों की बर्खास्तगी को बताया अपराध

Also Read - महबूबा मुफ्ती की मां गुलशन नजीर को तलब किया गया, ED ने 14 जुलाई को पेश होने को भेजा नोटिस

इनमें दो को गंभीर हालत में श्रीनगर के अस्पताल में भर्ती करायया गया है। सेना ने इस घटना पर खेद जताया है और जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। वहीं पीड़ित लड़की ने बाद में कहा कि सेना के किसी भी जवान ने उसके साथ छेड़छाड़ नहीं की। Also Read - PDP की मीटिंग में तय, महबूबा मुफ्ती लेंगी दिल्‍ली में होने वाली ऑल पार्टी मीट पर अंत‍िम फैसला

प्राप्त जानकारी के अनुसार स्थानीय लोग सैन्य कर्मी पर छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन कर रहे थे। इसी दौरान सुरक्षा बलों और स्थानीय लोगों में झड़प हो गई। सेना के बंकर को निशाना बनाने की कोशिश की गई। हालात को काबू करने के लिए की गई फायरिंग में मोहम्मद इकबाल (21) और नईम कादरी भट (22) की मौत हो गई।

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि युवकों की हत्या में शामिल जवानों को कठोर सजा दी जाएगी। इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जा सकतीं जिनका राज्य सरकार के शांति लाने के प्रयासों पर नकारात्मक असर पड़ता है। यह भी पढ़े-जम्मू एवं कश्मीर में मुठभेड़ में एलईटी आतंकवादी मारा गया

मामले की गंभीरता को देखते हुए सेना ने जांच का आदेश दे दिया है वहीं जम्मू कश्मीर पुलिस ने आपराधिक मामला दर्ज कर लिया है और घटना की जांच शुरू कर दी है। दोनों युवकों की मौत के बाद शहर में और प्रदर्शन शुरू हो गए और कश्मीर के श्रीनगर और पुलवामा जिलों में भी ऐसा ही हाल देखने को मिला। पुलिस प्रवक्ता ने घटना की शुरुआत के बारे में ब्योरा देते हुए कहा कि सेना के एक जवान द्वारा कथित छेड़छाड़ की घटना के कुछ ही मिनट के भीतर बड़ी संख्या में वहां लोग एकत्रित हो गए और उन्होंने हंदवारा चौक पर सेना के बंकर पर हमला कर दिया।

प्रवक्ता के अनुसार उन्होंने वहां तैनात जवानों पर हमला बोला, बंकर में तोड़फोड़ की और बंकर में आग लगाने का प्रयास किया। प्रवक्ता ने कहा कि बदले में तैनात सुरक्षा बलों ने हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया। इस दौरान मोहम्मद इकबाल और नईम कादिर भट गोली लगने से घायल हो गए। उन्होंने बताया कि उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया जहां दुर्भाग्य से उनकी मृत्यु हो गई। प्रवक्ता ने कहा कि पुलिस को उनकी मौत पर दुख है।

घटना पर नेशनल कॉन्फ्रेंस, कांग्रेस और माकपा ने कार्रवाई की मांग की और कहा कि दोषियों पर बिना देरी के मामला दर्ज किया जाना चाहिए। हुर्रियत के कट्टरपंथी धड़े के नेता सैयद अली शाह गिलानी ने दोनों युवकों की मौत के विरोध में बुधवार को कश्मीर बंद का आह्वान किया है।

शहर के संवेदनशील इलाकों में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात किया गया है। एक सरकारी विज्ञप्ति के मुताबिक दिल्ली गयीं मुख्यमंत्री ने उधमपुर में नार्दन आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डी एस हुड्डा से इस मुद्दे पर फोन पर बात की।