नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर रामपुर सेक्टर में पाकिस्तानी सैनिकों ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए गोलीबारी की जिसमें सेना का एक जवान शहीद हो गया व एक व्यक्ति की मौत हो गई. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि उरी के हाजीपीर क्षेत्र में पाकिस्तानी सेना ने बुधवार को सुबह 11 बजकर 30 मिनट पर बिना किसी उकसावे के गोलीबारी की.

सूत्रों ने बताया कि इसके अलावा पाकिस्तान ने यहां रामपुर सेक्टर में भी संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए गोलीबारी की जिसमें एक जूनियर कमिशन अधिकारी (जेसीओ) शहीद हो गया. उन्होंने बताया कि पाकिस्तान के सैनिकों की ओर से दागे गए गोले असैन्य क्षेत्रों में भी गिरे जिसमें दो नागरिक घायल हो गए. इनमें से चुरुनंदा गांव निवासी महिला नसीमा(23) की बाद में मौत हो गई. सूत्रों ने बताया कि भारतीय सेना इस संघर्षविराम उल्लंघन का माकूल जवाब दे रही है.

इससे पहले पाकिस्तानी रेंजर्स ने जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे अग्रिम क्षेत्रों में मंगलवार रातभर गोलाबारी की मोर्टार दागे. इसके विरोध में बुधवार को इन क्षेत्रों के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया.

अधिकारियों ने कहा कि मंगलवार रात पाकिस्तान की ओर से हीरानगर सेक्टर के चंदवा क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे क्षेत्रों में गोलीबारी और गोले दागे गए. उन्होंने बताया कि सीमा की सुरक्षा में तैनात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) जवानों ने मुंहतोड़ जवाब दिया. दोनों ओर से रातभर गोलाबारी होती रही.

इस बीच हीरानगर के चन्नतंदा क्षेत्र के लोगों ने कठुआ के गावों के नागरिकों पर गोलाबारी के विरोध में बुधवार को सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया. इन लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी की और मांग की कि पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया जाए. प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पाकिस्तानी रेंजर्स पिछले दो महीनों से विशेष तौर पर मनयारी, पंसार और राठवा गांवों को गोलाबारी करके निशाना बना रहे हैं जिससे मकानों एवं अन्य ढांचों को क्षति पहुंची है.

(इनपुट भाषा)